राजस्थान : कांग्रेस ने सचिन पायलट की दोबारा वापसी पर रखी ये शर्त

Congress Leader Randeep Surjewala on Sachin Pilot Position in Party - Sakshi Samachar

रणदीप सुरजेवाला ने सचिन पायलट के सामने रखी शर्त

सचिन पायलट को अपनी स्थिति साफ करने की मोहलत

कांग्रेस ने राजस्थान में गहलोत सरकार के पूर्ण बहुमत की बात दोहराई

जयपुर : राजस्थान के सियासी संग्राम में बगावती तेवर अपनाए सचिन पायलट और उनके समर्थकों की वापसी पर अब जोर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि अगर वह आलाकमान से माफी मांग लेते हैं तो उन्हें दोबारा शामिल कर लेंगे। इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सचिन पायलट के सामने एक शर्त रखी है।

रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि सचिन पायलट अपनी स्थिति साफ करें और बातचीत करें। सुरजेवाला ने स्पष्ट कहा कि सचिन पायलट अपनी स्थिति साफ करें तभी उनकी वापसी पर कोई बातचीत संभव हो सकती है। कांग्रेस की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि राजस्थान में गहलोत सरकार को किसी भी प्रकार से खतरा नहीं है। 

अशोक गहलोत द्वारा सचिन पायलट के लिए किए गए शब्दों के इस्तेमाल पर सुरजेवाला ने कहा कि सरकार गिराने की साजिश के दौरान भी 'भावनाओं को ठेस' पहुंचाने वाली बाते कही गई हैं। अशोक गहलोत ने बहुत ही जिम्मेदार तरीके से काम किया है। अब इन बातों पर विराम लगाना चाहिए।

भाजपा पर फिर बरसे गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को आरोप लगाया कि भाजपा उनकी सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त का बड़ा खेल खेल रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राजस्थान में चल रहे इस ‘तमाशे' को बंद करवाने की अपील की। इसके साथ ही गहलोत ने कहा कि अगर पार्टी आलाकमान बागियों को माफ कर देते हैं तो वे भी उन्हें गले लगा लेंगे। 

गहलोत ने उनके एवं उनकी सरकार के खिलाफ बयानबाजी के खिलाफ भाजपा विशेषकर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर कटाक्ष किया और कहा कि आडियो टेप प्रकरण के बाद शेखावत को तो नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। 

राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद फरोख्त के प्रयासों का जिक्र करते हुए गहलोत ने जैसलमेर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘दुर्भाग्य से इस बार भाजपा का निर्वाचित प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा है क्योंकि खून उनके मुंह लग चुका है। 

Advertisement
Back to Top