मंथनी थाने में भिड़े कांग्रेस और टीआरएस का कार्यकर्ता, ये है पूरा मामला

Congress and TRS Activist Clashes over Dalit Rajbabu death in Manthani - Sakshi Samachar

पेद्दापल्ली :  जिले के मंथनी पुलिस स्टेशन के पास कांग्रेस और टीआरएस के नेता आपस में भिड़ जाने से वहां तनाव की स्थिति पैदा हो गई। हालांकि पुलिस ने मौके पर पहुच करस्थिति पर काबू पा लिया। इस दौरान कांग्रेस और टीआरएस नेताओं के बीच गर्मागरम  वाद-विवाद हुआ। टीआरएस नेताओं के कथित हमले में एक दलित की हत्या होने के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने चलो मल्लारम का आह्वान किया था।

आपको बता दें कि इस महीने की 6 तारीख को मल्लारराव मंडल के मल्लारम गांव में दलित रेवेल्ली राजबाबू दंपती में वादविवाद हुआ था। स्थानीय वार्ड सदस्य व टीआरएस नेता श्रीनिवास राव ने मामले में हस्तक्षेप किया। इसी बात को लेकर राजबाबू और श्रीनिवास राव के बीच झगड़ा हुआ तो श्रीनिवास के साले शेखर और संपत वहां पहुंचे और राजबाबू पर हमला कर दिया। हमले में राजबाबू की मौके पर ही मौत हो गई। 

टीआरएस नेताओं के हमले में दलित की हत्या होने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस पार्टी ने चलो मल्लारम का आह्वान किया। इसके विरोध में टीआरएस एससी सेल ने टीआरएस का राजबाबू की मौत से संबंध नहीं होने का दावा करते  हुए उसने  भी चलो मल्लारम का आह्वान किया।

कांग्रेस और टीआरएस के बढ़ चढ़कर चलो  मल्लारम का आह्वान करने के मद्देनजर पुलिस ने मल्लारम सहित पूरे निर्वाचन क्षेत्र में धारा 144 लगाने के साथ व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त किया था। विधायक श्रीधर बाबू का काफिला मंथनी से रवाना हुआ तो पुलिस ने  उन्हें रोका और उन्हें मंथनी थाने भेज दिया।  ठीक उसी वक्त टीआरएस कार्यकर्ता भी चलो मल्लारम के लिए रवाना हुए तो  पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में  लेकर मंथनी थाने भेज दिया।

थाने में टीआरएस कार्यकर्ताओं द्वारा विधायक श्रीधर बाबू के  विरोध में नारे लगाने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी टीआरएस के विरोध में नारे लगाए। 
इस बीच, विधायक डी. श्रीधर बाबू के  नेतृत्तव में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और जिला चेयरपर्सन पुट्टामधु के नेतृत्व में  टीआरएस कार्यकर्ताओं के बीच घमासान हुआ।

 पुलिस ने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महिला महासचिव व मुलुगु की विधायक सीतक्का को हनकोंडा में  ही नजरबंद कर दिया। इस मौके पर सीतक्का ने कहा कि राज्य में दलितों पर लगातार हमले हो रहे  हैं और सरकार इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

Related Tweets
Advertisement
Back to Top