नहीं लगाया मास्क तो सड़कों पर लगानी पड़ सकती हैं झाड़ू

Wearing masks to avoid sweeping the streets in Mumbai - Sakshi Samachar

जुर्माना न देने पर सड़कों पर लगानी होगी झाड़ू

संक्रमण रोकने के लिए मास्क पहनना अनिवार्य 

बीएमसी ने 35 लोगों से कराई सामुदायिक सेवा

मुंबई : कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे देश में लोग मास्क लगाकर बाहर निकल रहे हैं। अगर आप मुंबई में रहते हैं और सड़कों पर झाड़ू लगाने से बचना चाहते हैं तो मास्क लगाकर ही बाहर निकलें, क्योंकि बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं पहनने वालों से सड़कों पर झाड़ू लगवाती है। हालांकि सड़कों पर झाड़ू आपको तब लगानी पड़ेगी, जब आप बिना मास्क लगाएं पकड़े जाएं और जुर्माना भी न देना चाहते हों।

कोरोना वायरस महामारी के कारण अधिकारियों ने संक्रमण फैलने से रोकने के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। के-वेस्ट निकाय वार्ड ने मास्क पहने बिना घूमने वाले कई लोगों से एक घंटे तक झाड़ू लगवाई। इस वार्ड में अंधेरी पश्चिम, जुहू और वर्सोवा आते हैं। सहायक निगम आयुक्त (के-वेस्ट वार्ड) विश्वास मोटे ने बृहस्पतिवार को बताया कि पिछले सात दिनों में मास्क नहीं पहनने और अधिकारियों से अनावश्यक बहस करने या जुर्माना भरने से मना करने वाले लोगों से हमने सामुदायिक सेवा के तहत झाड़ू लगवाया है।

इसे भी पढ़ें : 

दिल्ली में कहीं प्रदूषण की वजह से तो नहीं बढ़ रहा कोरोना, लोगों मे शुरू हुई चर्चा

मोटे ने कहा, ''के-वेस्ट वार्ड में अभी तक हमने 35 लोगों से सामुदायिक सेवा करवाई है। अधिकारियों के मुताबिक, बीएमसी के ठोस अपशिष्ट प्रबंधन उप नियमों के तहत यह सजा दी जा रही है। इस नियम के तहत नगर निकाय सड़कों पर थूकने वाले लोगों से विभिन्न सामुदायिक सेवा करने के लिए कह सकता है। नगर निकाय के एक अधिकारी ने बताया कि शुरू में अधिकतर लोग सड़कों पर झाड़ू लगाने जैसी सामुदायिक सेवा नहीं करना चाहते, लेकिन जब उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई की चेतावनी दी जाती है, तो वे ऐसा करते हैं।

Advertisement
Back to Top