ट्विटर ने जीरो फॉलोअर्स के साथ बाइडन के 'पोटस' अकांउट को किया रीस्टार्ट

Twitter restarted Biden's 'POTUS' account with zero followers - Sakshi Samachar

'ट्रांजिशन 46' अब 'व्हाइट हाऊस' बन गया

व्हाइट हाऊस अकाउंट ट्रांसफर्स के संबंध में बात

नीति में हुए बदलाव से नाखुश बाइडन की टीम

सैन फ्रांसिस्को: ट्विटर (Twitter) ने अपनी नीति में परिवर्तन के एक हिस्से के रूप में ट्रांसफर करने की जगह 'पोटस' (POTUS) और 'व्हाटस हाऊस' (White House) अकांउट से सभी फॉलोअर्स को रिमूव कर दिया है।

ट्रंप प्रशासन के ट्विटर अकांउट्स अब सार्वजनिक रूप से आर्काइव कर दिए गए हैं, जिनमें 'पोटस 45', 'व्हाटस हाऊस 45', 'वीपी 45', 'प्रेस सेकेट्ररी 45', 'फ्लोटस 45' और 'सेकेंड लेडी 45' शामिल रहे हैं।

'ट्रांजिशन 46' अब 'व्हाइट हाऊस' बन गया

द वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक, व्हाइट हाऊस, राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति, प्रथम महिला और व्हाइट हाऊस प्रेस सचिव को अब उनके नए यूजरनेम मिले हैं जैसे कि 'ट्रांजिशन 46' अब 'व्हाइट हाऊस' बन गया है, जबकि 'प्रेस इलेक्ट बाइडन' अब 'पोटस' बन गया है। इनके अलावा, 'सेन कमला हैरिस' अकाउंट को अब 'वीपी' में तब्दील कर दिया गया है, जबकि 'फ्लोटस बाइडन' को 'फ्लोटस' में परिवर्तित किया गया है।

व्हाइट हाऊस अकाउंट ट्रांसफर्स के संबंध में टीम से बात

साल 2017 में जब ट्रंप प्रशासन ने बराक ओबामा के प्रशासन से अपने कार्यभार को संभाला था, तब माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने इससे बिल्कुल विपरीत काम किया था। ट्विटर ने उस दौरान मौजूदा अकाउंट्स को डुप्लीकेट किया था और ओबामा काल के ट्वीट्स और फॉलोअर्स को आर्काइव कर दिया था।

कंपनी के मुताबिक, व्हाइट हाऊस अकाउंट ट्रांसफर्स के संबंध में कई अलग-अलग पहलुओं पर बाइडन की ट्रांजिशन टीम से बात की जा रही है।

बाइडन की टीम नीति में हुए बदलाव से नाखुश

बुधवार को इस रिपोर्ट में कहा गया, "बाइडन की टीम नीति में हुए बदलाव से नाखुश दिखाई पड़ रहे हैं क्योंकि इसके चलते वे अपना डिजिटल लाभ खो देंगे।"

'पोटस' 3.3 करोड़ फॉलोअर्स हैं, 'व्हाइट हाऊस' के 2.6 करोड़ फॉलोअर्स हैं, 'फ्लोटस' के 1.6 करोड़ फॉलोअर्स हैं, जबकि 'प्रेस सेकेट्ररी' के 60 लाख फॉलोअर्स हैं।
डोनाल्ड ट्रंप के 'पोटस' अकाउंट का नाम बदलकर अब 'पोटस 45' कर दिया जाएगा, जबकि 'रियल डोनाल्ड ट्रंप' के नाम से बने उनके निजी अकांउट को पहले ही बैन कर दिया गया है। कुछ आपत्तिजनक और भ्रामक ट्वीट्स इसके पीछे की वजह रही। इस बैन के बाद से ट्रंप ने अपने कई फॉलोअर्स खो दिए।

Advertisement
Back to Top