15 दिनों में 2 रुपये प्रति लीटर घटे पेट्रोल-डीजल के दाम

Petrol-diesel price reduced by Rs 2 per liter in 15 days - Sakshi Samachar

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में भारी गिरावट

लगातार चौथे दिन गिरावट दर्ज

दिल्ली में डीजल घटकर 62.44 रुपये

नई दिल्ली : पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को लगातार चौथे दिन गिरावट दर्ज की गई। देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम में बीते 15 दिनों में दो रुपये से ज्यादा की गिरावट आई है।

गिरावट का सिलसिला जारी
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में भारी गिरावट से तेल आयात सस्ता हो गया है, इसलिए पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में तीन रुपये प्रति लीटर की वृद्धि के बावजूद दोनों वाहन ईधनों के दाम में लगातार गिरावट का सिलसिला जारी है।

चेन्नई में 15 पैसे की कटौती
तेल कंपनियों ने रविवार को पेट्रोल के दाम में दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में 12 पैसे जबकि मुंबई में 11 पैसे प्रति लीटर कटौती की। वहीं, डीजल की कीमत में दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में 14 पैसे, जबकि चेन्नई में 15 पैसे की कटौती की गई है।

दिल्ली में डीजल घटकर 62.44 रुपये
पेट्रोल और डीजल का दाम राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 14 महीने से ज्यादा समय के निचले स्तर पर आ गया है। दिल्ली में पेट्रोल 69.75 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इससे पहले 13 जनवरी 2019 को दिल्ली में पेट्रोल का दाम 69.75 रुपये प्रति लीटर था। वहीं, डीजल का दाम दिल्ली में घटकर 62.44 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इससे पहले नौ जनवरी 2019 को दिल्ली में डीजल 62.24 रुपये प्रति लीटर था।

यह भी पढ़ें : पेट्रोल, डीजल पर तीन रुपये प्रति लीटर उत्पाद शुल्क बढ़ा

चारों महानगरों में डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम घटकर क्रमश: 69.75 रुपये, 72.45 रुपये, 75.46 रुपये और 72.45 रुपये प्रति लीटर हो गया है। वहीं, चारों महानगरों में डीजल की कीमत भी घटकर क्रमश: 62.44 रुपये, 64.77 रुपये, 65.37 रुपये और 65.87 रुपये प्रति लीटर हो गई है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस महीने कच्चे तेल के दाम में अब तक करीब 15 डॉलर प्रति बैरल की गिरावट आ चुकी है। दो मार्च को ब्रेंट क्रूड का भाव आईसीई पर जहां 51.90 डॉलर प्रति बैरल था, वहीं बीते सप्ताह ब्रेंट क्रूड का वायदा सौदा 34.72 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें : इस वजह से कस्टमर्स की हो सकती है बल्ले-बल्ले

Advertisement
Back to Top