हैदराबाद के गांधी अस्पताल में सामाजिक दूरी की उड़ी धज्जियां, कोरोना संदिग्धों ने ऐसे पढ़ी नमाज

People in quarantine offer Namaz at Gandhi Hospital  - Sakshi Samachar

हैदराबाद के गांधी अस्पताल का चौंकाने वाला मामला

अस्पताल में उड़ी सामाजिक दूरी की धज्जियां

कोरोना संदिग्धों ने अदा की सामूहिक नमाज

हैदराबाद: तेलंगाना में कोरोना संक्रमितो और संदिग्धों  की संख्या में एकाएक इजाफा हुआ है। लिहाजा ऐसे लोगों को हैदराबाद स्थित गांधी अस्पताल में रखा गया है, जिनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण हैं। इनमें से कइयों के रिपोर्ट्स आने अभी बाकी हैं। लिहाजा इन्हें एक दूसरे के साथ दूरी बनाने की हिदायत दी गई है। अस्पताल में जगह की तमाम मुश्किलों के बीच इनके बिस्तर के बीच पर्याप्त दूरी रखी गई है। बावजूद नमाज के नाम पर ये एक दूसरे के करीब जाने से परहेज नहीं कर रहे हैं। 

सीएम केसीआर से मिलने जाते समय गेट रोकने की घटना का गृहमंत्री ने किया खंडन

अब तो मौलवियों और मुस्लिम धर्म गुरुओं ने भी अपील शुरू कर दी कि धर्माचरण से पहले डॉक्टरों की सलाह माननी जरूरी है। फिर भी लोग मानने को तैयार नहीं है। अल्लाह की इबादत से कहीं कोई रोक नहीं है। यहां तक कि घरों में नमाज पढ़ने की छूट है। अस्पताल में हैं तो दूरी बनाकर भी नमाज अदा की जा सकती है। अब ऐसी लापरवाही पर अस्पताल के भीतर भी सख्ती की गुंजाइश से इनकार नहीं किया जा सकता है। 

तेलंगाना सहित पूरे देश में लॉकडाउन है जिसको लेकर तमाम गाइडलाइन्स जारी किये गए हैं। अब इन्हें कौन समझाए कि लॉकडाउन के दौरान अगर अस्पताल के भीतर हैं तो वहां भी दिशा निर्देश लागू है। सामान्य सावधानियों के बारे में डॉक्टरी हिदायत का इंतजार करना बेमानी है। 

तब्लीग-ए-जमात को लेकर हैदराबाद के कई हिस्सों में सनसनी

तब्लीग ए जमात के धार्मिक आयोजनों में हैदराबाद से भी बड़ी संख्या में लोग शरीक हुए थे। जिसको लेकर हैदराबाद ओल्ड सिटी के विभिन्न हिस्सों में अफरातफरी का माहौल है। लोग एक दूसरे को शक की निगाह से देखने लगे हैं। हैदराबाद के पास चंद्रायनगुट्टा, शाहीनगर और टोली चौकी इलाकों में पुलिस भी अलर्ट पर है। जहां भी कोरोना संदिग्ध की जानकारी मिल रही है वहां तत्काल तेलंगाना पुलिस पहुंचती है। फिर तमाम तस्दीक के बाद ही संदिग्ध व्यक्ति को छोड़ा जाता है या फिर अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। 

सोशल मीडिया पर अब लोगों को जागरूक करने की कोशिश की जा रही है कि जमात में नमाज न पढ़ें। मस्जिदों में फिलहाल सामूहिक नमाज की छूट नहीं है। समझदार लोग दिशा निर्देशों का पालन कर रहे हैं। जबकि अभी भी बड़ी संख्या में लोगों को समझ नहीं आ रहा कि देश किस मुश्किल के दौर से गुजर रहा है।

Advertisement
Back to Top