पाकिस्तान ने फिर चली 'घटिया' चाल, नाराज NSA अजीत डोभाल ने बीच में छोड़ी मीटिंग

NSA Ajit Doval Boycott SCO Meeting After Pakistan Presented Fictitious Map - Sakshi Samachar

एससीओ के सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की मीटिंग

पाकिस्तान ने मीटिंग के दौरान पेश किया काल्पनिक नक्शा 

नाराज होकर एनएसए अजीत डोभाल ने बीच में ही मीटिंग छोड़ी

नई दिल्ली : पाकिस्तान दुनिया के सामने बेनकाब होने के बाद भी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। मंगलवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की मीटिंग के दौरान पाकिस्तान एक काल्पनिक नक्शा पेश किया, जो पूरी तरह से गलत था। वह दुनिया को इस नक्शे के जरिए गुमराह करना चाहता था। इस बात से नाराज होकर एनएसए अजीत डोभाल ने बीच में ही मीटिंग छोड़ दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सभी देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की मीटिंग चल रही थी। इसी बीच पाकिस्तान ने बेहद गंदी हरकत की। पाकिस्तान की तरफ से काल्पनिक नक्शा पेश किया गया, जो वह पिछले काफी समय से प्रसारित कर रहा है। इस बात का भारत ने विरोध जताया।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि बैठक में पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने जानबूझकर एक काल्पनिक नक्शा पेश किया। इस नक्शे को पाकिस्तान लगातार प्रचारित-प्रसारित कर रहा है। पाकिस्तान की इस हरकत के बाद भारत ने विरोध जताते हुए मीटिंग छोड़ दी। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “यह मेजबान द्वारा इसके खिलाफ दिये गए परामर्श की घोर उपेक्षा और बैठक के नियमों का उल्लंघन था। मेजबान से विचार-विमर्श के बाद, भारतीय पक्ष ने इस मौके पर विरोधस्वरूप बैठक छोड़ने का फैसला किया।” बैठक की अध्यक्षता रूस कर रहा था।

इस मुद्दे पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “जैसी की उम्मीद की जा रही थी, पाकिस्तान ने तब इस बैठक को लेकर भ्रामक तस्वीर पेश की।” सरकारी सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान की कार्रवाई एससीओ चार्टर का “घोर उल्लंघन” था और एससीओ के सदस्य देशों की क्षेत्रीय संप्रभुता और अखंडता की सुरक्षा को लेकर सभी स्थापित मानकों के खिलाफ भी। 

क्या है पाकिस्तान के काल्पनिक नक्शे में

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने बीते महीने एक नया नक्शा जारी करते हुए लद्दाख, सियाचीन और गुजरात के जूनागढ़ को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था। पाकिस्तान तब से लगातार इस नक्शे को प्रचारित कर रहा है। भारतीय पक्ष ने इस बात पर कड़ी नाराजगी जताते हुए पाकिस्तान का झूठ सबके सामने रखा। विरोध स्वरूप भारत ने बैठक बीच में ही छोड़ दी। 

Advertisement
Back to Top