"अप्रैल फूल डे" पर इस बार लॉकडाउन का साया, जानिए क्या है चेतावनी?

Maharashtra Minister warns for April Fool Day 2020 - Sakshi Samachar

अप्रैल फूल डे पर कोरोना वायरस को लेकर न करें मजाक

महाराष्ट्र के मंत्री अप्रैल फूल को लेकर दी चेतावनी

कोरोना वायरस को लेकर न फैलाएं भ्रामक खबरें

नई दिल्ली: बुधवार यानी एक अप्रैल को हर साल अप्रैल फूल डे मनाया जाता है। इस दिन लोग अलग अलग तरीके से दूसरों को बुद्धू बनाते हैं। कई जगह हास्य और स्वांग के कार्यक्रम होते है। वहीं इस बार देश में लॉकडाउन को लेकर उपजे हालात में आयोजनों को स्थगित किया गया है। साथ ही विभिन्न राज्य सरकारों ने आम नागरिकों को हिदायत दी है कि वे कोरोना वायरस को लेकर कोई मजाक न करें। 

खासकर सोशल मीडिया पर इस गंभीर त्रासदी को लेकर मखौल न उड़ाने की सलाह दी गई है। कोरोना वायरस के असर के चलते देश भर में लागू किए गए लॉकडाउन के मद्देनज़र महाराष्ट्र सरकार के मंत्री ने खासकर चेतावनी दी है। गृहमंत्री अनिल देशमुख के मुताबिक अप्रैल फूल बनाने के नाम पर अफवाह या प्रैंक करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की जाएगी। देशमुख ने आगे कहा कि एक अप्रैल को लोगों को अप्रैल फूल बनाने के लिए यदि किसी तरह की भ्रामक खबर प्रचारित की गई तो उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस बारे में साइबर क्राइम के तहत मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है। 

शुरू हुई Corona Test के लिए ऑनलाइन बुकिंग सेवा, घर से कलेक्ट होगा सैंपल

पुणे और देश के विभिन्न महानगरों की पुलिस ने भी इसी तरह की चेतावनी आम लोगों के लिए जारी की है। लोगों से कोरोनो वायरस को लेकर गलत और अपुष्ट जानकारी देने से परहेज की अपील की गई है। 

इस बारे में पुणे पुलिस ने बकायदा नोटिफिकेशन जारी किया है। जिसके मुताबिक अप्रैल फूल बनाने के नाम पर कोरोना वायरस के बारे में अगर गलत जानकारी प्रचारित की गई  तो आरोपी के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। जिसके तहत जुर्माने के साथ ही छह महीने की जेल की सजा भी हो सकती है। 

Advertisement
Back to Top