जेल में बैठे लालू ने दिया कोरोना वायरस को भगाने का मंत्र, बताया महामारी खत्म करने का उपाय

Lalu Prasad appeal not to go outside amid Corona threat - Sakshi Samachar
लालू प्रसाद ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिया मंत्र जेल में बंद लालू प्रसाद की लोगों से भावुक अपील कोरोना के खतरों के बीच जेल में वक्त बिता रहे लालू

पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद फिलहाल जेल में बंद हैं। इस दौरान सूत्रों के मुताबिक लालू प्रसाद कोरोना वायरस के कहर के मद्देनजर बेहद परेशान हैं। लालू प्रसाद के ट्विटर हैंडल से इस बाबत लोगों के लिए सलाह जारी किया गया है। जिसमें उन्होंने लोगों से घरों में ही रहने के लिए भावुक अपील की है।

कोरोना के प्रकोप के दौरान लालू प्रसाद किसी तरह की राजनीति करते नजर नहीं आए। न ही कोरोना को लेकर लालू ने कोई मजाक ही किया। बल्कि उनके सुर पूरी तरह उनके धुर विरोधी नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार से मेल खा रहे थे। राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद भी ट्विटर के जरिए लोगों से हर हाल में घरों से नहीं निकलने की अपील की है।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद की अपील पर गौर करें। लालू ने ट्वीट में लिखा है, “जो घर से बाहर निकले, उसे टोकना होगा…कोरोना को रोकना है तो अपने कदमों को रोकना होगा। बिना किंतु-परंतु घर में आराम करो ना!”

कोरोना वायरस के खतरे के बीच नहीं मिली रिहाई

लालू प्रसाद यादव को उम्मीद थी कि कोरोना के प्रसार के मद्देनजर उन्हें जमानत मिल जाएगी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। यहां तक कि झारखंड सरकार उन्हें पैरोल देने पर विचार भी कर रही थी। सरकार ने इस आशय के संकेत भी दिए थे। वहीं जेल IG शशि रंजन के बयान ने लालू प्रसाद की रिहाई पर ग्रहण लगा दिया। उनके मुताबिक आर्थिक अपराधियों और 7 साल से ज्यादा सजा पाये व्यक्ति को पेरौल नहीं मिल सकता है। सरकार ने झारखंड में पेरौल देने के लिए जो कमेटी बनाई है उसमें शशि रंजन भी सदस्य है। आईजी शशि रंजन के मुताबिक लालू प्रसाद की रिहाई का फैसला कोर्ट से ही हो सकता है।

Advertisement
Back to Top