लालू के खिलाफ FIR दर्ज कराने वाले विधायक ललन पासवान को लग रहा है 'डर'

Lalan Paswan feels unsafe in Bihar who received Lalu Prasad Viral call  - Sakshi Samachar

पटना:  बिहार में पीरपैंती विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक ललन पासवान ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा में शारीरिक एवं मानसिक नुकसान पहुंचाए जाने की आशंका जताते हुए सदन से सुरक्षा की मांग की है। विधानसभा में विधायक ललन पासवान ने अध्यक्ष से कहा, "मैंने एक राजनीतिक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के टेलीफोन कॉल का खुलासा किया है। आशंका है कि मुझे और मेरे परिवार के लोगों को प्रलोभन देने वाले शक्तिशाली लोगों द्वारा शारीरिक एवं मानसिक क्षति पहुंचाई जा सकती है।" उन्होंने आगे कहा, "इस सदन का सदस्य होने के नाते मैं सुरक्षा की मांग करता हूं। मैं असुरक्षित महसूस कर रहा हूं। अभी भी इस तरह की धारणा है कि कमजोर तबके के लोग बिक्री के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।"

बता दें कि पासवान ने गुरुवार को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के खिलाफ राज्य निगरानी विभाग के थाने में एक प्राथमिकी दर्ज करवाई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि लालू प्रसाद ने उन्हें फोन कर सोची-समझी साजिश के तहत राजनीति में आगे बढ़ाने एवं मंत्री बनाने का लालच देकर एक जनसेवक (पब्लिक सर्वेट) का वोट खरीदने की कोशिश की। आरोप है कि लालू प्रसाद ने फोन कर विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में भाग नहीं लेने की बात कही। इधर, सत्ता पक्ष के विधायकों ने इसे एक गंभीर मामला बताया।

पासवान ने कहा 'गरीब हूं लेकिन बिकाऊ नहीं'

इससे पहले मीडिया से बातचीत करते हुए ललन पासवान ने कहा था कि वे गरीब परिवार से आते हैं लेकिन बिकाऊ नहीं हैं। लालू प्रसाद ने ललन पासवान को बिहार विधानसभा अध्यक्ष चुनाव में महागठबंधन उम्मीदवार का साथ देने के लिए प्रलोभन दिया था। यहां तक कि पासवान को पार्टी में आगे बढ़ाने और मंत्री पद देने का लालच दिया गया था। इसी मामले में विधायक ने पटना में एफआईआर दर्ज कराई है। ललन पासवान ने कहा कि पढ़ा-लिखा और स्वाभिमानी हूं, दलित परिवार से हूं लेकिन मेरे जमीर का कोई सौदा नहीं कर सकता। पासवान ने खुद को राष्ट्रवादी राजनीतिक सोच वाला बताया। बीजेपी विधायक ने प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत निगरानी थाने में मुकदमा किया है। 

विधायक ललन पासवान ने कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है और उम्मीद है कि न्याय मिलेगा। उन्होंने कहा कि पहले जब बातचीत का हवाला दिया तो ऑडियो की मांग की गई। जब ऑडियो सामने आया तो अब राजद इसे झूठा बताने में लगा है। उन्होंने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ललन पासवान के मुताबिक वे 20 सालों से सामाजिक जीवन में हैं। साथ ही उनकी लोकतंत्र के प्रति पूरी आस्था है। पासवान ने कहा कि उन्हें सरकार गिराने की साजिश में शामिल करने की कोशिश से उन्हें आघात और दुख हुआ है। 
 

Advertisement
Back to Top