हाथरस कांड: हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू, पीड़ित परिवार-यूपी सरकार के अफसर अदालत में मौजूद

Hathras Victim Family Appear Before Lucknow Bench of Allahabad High Court Today  - Sakshi Samachar

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सुनवाई

हाथरस केस का हाईकोर्ट ने स्वत: लिया है संज्ञान

हाथरस से लखनऊ पूरी सुरक्षा के साथ ले जाया जा रहा है

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के हाथरस में युवती के साथ हुई दरिंदगी के मामले में आज काफी महत्वपूर्ण दिन है। पीड़ित परिवार आज इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के समक्ष पेश होंगे। परिवार हाथरस से लखनऊ के लिए निकल चुका है। पूरी सुरक्षा के साथ परिवार के पांच सदस्यों को लखनऊ कोर्ट में ले जाया जा रहा है। एसडीएम, सीओ भी पीड़ित परिवार के साथ हैं।

कोर्ट ने हाथरस के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक समेत उच्‍चाधिकारियों को भी उसके समक्ष पेश होने के निर्देश दिये हैं। हाथरस के पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल ने बताया कि युवती के परिजनों को अदालत में पेश करने के संबंध में जिला न्यायाधीश को नोडल अधिकारी बनाया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘जिला न्यायाधीश नोडल अधिकारी हैं और वहीं समन्वय स्थापित कर रहे हैं। जैसा वह बताएंगे, उसी हिसाब से परिजन रवाना होंगे।'' 

कोर्ट ने एक अक्‍टूबर को हाथरस मामले का स्‍वत: संज्ञान लेते हुए प्रदेश के अपर मुख्‍य सचिव (गृह), पुलिस महानिदेशक, अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्‍यवस्‍था), जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को सोमवार को तलब किया। खंडपीठ ने अधिकारियों को मामले से संबंधित दस्‍तावेज लेकर आने को कहा है। न्यायमूर्ति राजन रॉय और न्यायमूर्ति जसप्रीत सिंह की खंडपीठ ने यह आदेश दिया था। 

जायसवाल ने बताया कि युवती के परिवार की सुरक्षा का पर्याप्‍त इंतजाम किया गया है। परिवार की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी पुलिस उप महानिरीक्षक शलभ माथुर संभाल रहे हैं। शलभ ने ‘पीटीआई-भाषा' को बताया था कि जरूरत पड़ने पर एक नियंत्रण कक्ष भी स्‍थापित किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि युवती के परिवार की सुरक्षा के लिए 60 सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं और सीसीटीवी कैमरों की मदद से युवती के घर की 24 घंटे निगरानी की जा रही है। गौरतलब है कि हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में गत 14 सितंबर को एक दलित युवती से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार और मारपीट की गई थी। इस घटना में गंभीर रूप से घायल हुई लड़की की बाद में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इस मामले में गांव के ही रहने वाले चार युवकों को गिरफ्तार किया गया था।

Advertisement
Back to Top