हाथरस गैंगरेप : बेटी का अंतिम बार चेहरा भी नहीं देख सके घर वाले, पुलिस ने जबरदस्ती किया अंतिम संस्कार

Hathras Gangrape : Victim Amid late night cremation - Sakshi Samachar

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का अंतिम संस्कार

ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच पुलिस ने किया अंतिम संस्कार

आक्रोश को देखते हुए गांव में भारी संख्या में फोर्स तैनात

हाथरस : उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप का शिकार हुई पीड़िता का मंगलवार देर रात भारी विरोध के बीच अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस ने देर रात करीब 3 बजे पीड़िता का अंतिम संस्कार किया, जबकि परिजन इस बात के लिए तैयार नहीं थे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गांव में भारी संख्या में फोर्स तैनात रही। 

राजधानी दिल्ली से पीड़िता का शव रात में 12:45 हाथरस पहुंचा। इस दौरान वहां पर लोगों में प्रशासन के खिलाफ भारी नाराजगी देखी गई। अंतिम संस्कार के लिए ले जा रही एंबुलेंस को ग्रामीणों ने रोक दिया, लेकिन पुलिस ने भारी फोर्स की तैनाती के बीच अंतिम संस्कार कर दिया। इस दौरान घर वाले बेटी का अंतिम बार चेहरा भी नहीं देख सके।

पुलिस की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम

पीड़िता के शव का पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया गया। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मंगलवार को युवती की मौत हो गयी। इससे पहले दिन में पीड़िता के पिता और चचेरे भाई सफदरजंग अस्पताल के बाहर धरने पर बैठ गए। शाम में वहां भीम आर्मी और कांग्रेस के कार्यकर्ता भी पहुंच गए। बाद में पीड़िता के शव को हाथरस ले जाया गया। 

एक सूत्र ने बताया, ‘‘पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया गया।'' दो सप्ताह पहले उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के एक गांव में बर्बर सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गयी। उसकी मौत के बाद रोष उत्पन्न हुआ, कई जगह प्रदर्शन किए गए और इंसाफ की मांग की गयी। 

दुष्कर्म के प्रयास का विरोध करने पर आरोपियों ने उसके साथ काफी बर्बरता की। आरोपियों ने पीड़िता की जीभ भी काट दी। मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है । पीड़िता को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वहां से सोमवार को सफदरजंग अस्पताल लाया गया था।

Advertisement
Back to Top