उत्तर भारत में जारी रहेगा शीतलहर का कहर, 22 जनवरी तक ठंड से नहीं मिलेगी राहत

Weather Update Cold Wave Will Continue In North India on 22nd January  - Sakshi Samachar

घने कोहरे की वजह से बारिश के आसार

राजस्थान में मौसम का हाल 

पूरा उत्तर प्रदेश ठंड की गिरफ्त में

नई दिल्ली : उत्तर भारत (North India) में इनदिनों काफी ठंड (Cold) पड़ रही है। शीतलहर (Cold Wave) और घने कोहरे (Dense Fog) की वजह से लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। यहां अभी ठंड और घने कोहरे से राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। सर्दी से बेहाल लोग राहत के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं।  

मौसम विभाग के मुताबिक कुछ और दिनों तक लोगों को शीतलहर से ठिठुरन का सामना करना पड़ेगा। विभाग के मुताबिक,  22 जनवरी तक उत्तर भारत में शीतलहर का कहर जारी रहेगा। उत्तरी मैदानी इलाकों जैसे-पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, यूपी और उत्तराखंड में घना कोहरे का भी अनुमान जताया गया है।

घने कोहरे की वजह से बारिश के आसार

मौसम विभाग का कहना है कि घरे कोहरे की वजह से बारिश हो सकती है। इस दौरान दिन का तापमान बढ़ेगा, साथ ही रात के तापमान में और भी गिरावट आएगी। ठंड और शीतलहर की वजह से अगले 3 दिनों यानी कि 21 जनवरी तक न्यूनतम तापमान 2-4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने की संभावना जताई जा रही है और उत्तर पश्चिमी भारत के मैदानी इलाकों में तापमान 2-4 डिग्री सेल्सियस बढ़ सकता है। 

राजस्थान में मौसम का हाल 

राजस्थान में बीकानेर, गंगानगर, जैसलमेर, अजमेर जिलों में सोमवार को घना कोहरा छाया रहा। मौसम केन्द्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया, ‘‘राज्य के ज्यादातर भागों में पूर्वा हवाओं के चलने से नमी बढ़ गयी है। इन परिस्थितियों में आगामी दिनों में जयपुर, भरतपुर तथा बीकानेर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर घना कोहरा छाए रहने की संभावना है।'' 

पूरा उत्तर प्रदेश ठंड की गिरफ्त में

उत्तर प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी भाग में पिछले चौबीस घंटों में हल्का और घना कोहरा होने के कारण सूरज नहीं दिखा। धूप नहीं निकलने से पूरा प्रदेश ठंड की गिरफ्त में है। मौसम विभाग के अनुसार गोरखपुर, मुरादबाद, आगरा मंडल में दिन के तापमान में थोड़ी बढोत्तरी हुई लेकिन प्रयागराज, कानपुर, बरेली, झांसी मंडलों में तापमान नीचे गिरा है। 

पंजाब और हरियाणा का मौसम का हाल 

पंजाब और हरियाणा में कई स्थानों पर सोमवार को न्यूनतम तापमान में मामूली बढ़ोतरी के साथ ही लोगों को ठंड से थोड़ी राहत मिली। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों के अनुसार दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंड़ीगढ़ में न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 7.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अंबाला, हिसार, करनाल, भिवानी, अमृतसर, लुधियाना औ पटियाला सहित कई स्थानों पर सुबह कोहरे के कारण दृश्यता कम रही।

 पुरवाई हवाएं चलने से तापमान में गिरावट 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दिल्ली में सोमवार को पुरवाई हवाएं चलने और आंशिक रूप से बादल छाये रहने के कारण न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उसने बताया कि अधिकमत तापमान के 17 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किए जाने का अनुमान है।

घाटी में पारा जमाव बिंदु से कई डिग्री नीचे

कश्मीर के अधिकतर स्थानों पर रविवार को न्यूनतम तापमान में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई। वहीं लोगों को शीत लहर से राहत नहीं मिली क्योंकि घाटी में पारा जमाव बिंदु से कई डिग्री नीचे ही रहा। 

मौसम विज्ञान विभाग कार्यालय ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के 22 जनवरी से कुछ दिन के लिए केन्द्र शासित प्रदेश को प्रभावित करने का अनुमान है। इस महीने की शुरुआत में भारी बर्फबारी के बाद से ही कश्मीर घाटी में शीत लहर का प्रकोप जारी है। 

भीषण सर्दी के कारण डल झील सहित यहां कई इलाकों में पानी के स्रोत भी जम रहे हैं। रात में अब भी तामपान शून्य से कई डिग्री नीचे दर्ज किया जा रहा है। गुलमर्ग के स्की-रिज़ार्ट को छोड़कर रविवार रात को घाटी में ठंड की स्थिति में मामूली सुधार जरूर था।  जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में तापमान शून्य से नीचे 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

Advertisement
Back to Top