बेहद कारगर है UPSC-2019 पास कर चुकी मॉडल ऐश्वर्या का 10+8+6 फॉर्मूला, क्यों न आप भी आजमाएं

Try the 10+8+6 Formula to win any Competition as UPSC-2019 Passed Model Aishwarya - Sakshi Samachar

UPSC 2019 में मिला 93वां रैंक

मां चाहती थी कि मैं मॉडलिंग करूं

सोशल मीडिया और फोन से खुद को रखा दूर

नई दिल्ली : पढ़ाई करने का हर किसी का अपना अलग तरीका हो सकता है। जरूरी नहीं कि हम दूसरों का हर तरीका फॉलो करें लेकिन प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर ढंग से तैयारी के लिए उन तरीकों पर एक बार गौर अवश्य कर सकते हैं। अगर खुद को वह जंच जाए तो हो सकता है कि हमारी तैयारी के लिए वह एक बेहतर विकल्प बन जाए। कुछ ऐसा ही हम सीख सकते हैं इस बार यूपीएससी की परीक्षा में सेल्फ स्टडी करके 93वां रैंक पाने वाली मॉडल ऐश्वर्या श्योरान से। आइए, जानते हैं ​क्या है इनकी तैयारी का फॉर्मूला?

UPSC 2019 में मिला 93वां रैंक

बता दें कि UPSC सिविल सर्विस रिजल्ट 2019 की घोषणा कुछ दिनों पहले ही की गई है, जिसमें पूर्व मिस इंडिया फाइनलिस्ट ऐश्वर्या श्योरान का नाम भी UPSC 2019 के सफल उम्मीदवारों की लिस्ट में है। उन्होंने इस परीक्षा में 93वां रैंक हासिल किया है। ऐश्वर्या ने ग्लैमर की दुनिया से हार्ड कोर यूपीएससी की पढ़ाई के लिए कुछ नियम फॉलो किए।

मां चाहती थी कि मैं मॉडलिंग करूं

ऐश्वर्या ने बताया, मैंने दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस के साथ अपना मॉडलिंग सफर शुरू किया था। उसके बाद कई अन्य प्रोजेक्ट मेरे पास आए, मुझे मॉडलिंग इंडस्ट्री में कदम रखने के लिए मिस इंडिया में भाग लेने के लिए भी कहा गया था। मॉडलिंग की दुनिया में अपने पैर जमाना मेरी मां का सपना था। वह हमेशा चाहती थीं कि मैं इस क्षेत्र में जाऊं, इसीलिए उन्होंने मेरा नाम भी अभिनेत्री ऐश्वर्या राय के नाम पर रखा था। मॉडलिंग मेरे लिए एक संयोग के रूप में आया। जब मैं शॉपिंग मॉल में अपनी मां के साथ खरीदारी कर रही थी तो वहां आयोजित दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस प्रतियोगिता में भाग ले लिया। मॉडलिंग की यात्रा वहीं से शुरू हुई।

सोशल मीडिया और फोन से खुद को रखा दूर

ऐश्वर्या जब अपने कॉलेज के सेकंड ईयर में थीं, तब उन्होंने मिस इंडिया प्रतियोगिता में भाग लिया था, जिसके बाद उन्हें मॉडलिंग असाइनमेंट्स के कई ऑफर आने लगे। उन्होंने बताया, मेरा मन यूपीएससी परीक्षा देने का था, जिसके बाद मई 2018 तक अपने सभी मॉडलिंग असाइनमेंट को पूरा कर खुद को सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिए समर्पित कर दिया। मैंने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से खुद को पूरी तरह से दूर कर लिया था। मैं किसी भी तरह की ऐसी चीज नहीं करना चाहती थी, जिससे मेरा ध्यान भटके।

10 + 8 + 6 का फॉर्मूला हमेशा से मेरे लिए है हिट

ऐश्वर्या बचपन से ही बहुत पढ़ने वाली लड़की थी और हमेशा शानदार स्कोर करती थी, चाहे वह स्कूल में हो या कॉलेज में। यूपीएससी के लिए, उसने एक बहुत ही सरल लेकिन कड़ी मेहनत करने वाली तकनीक लागू की। उसने बताया, मेरे पास हमेशा एक सरल तकनीक थी जिसका मैंने 2018-2019 के दौरान पालन किया। मैंने साल 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी। मेरी सफलता का मंत्र 10 + 8 + 6 है यानी 10 घंटे पढ़ाई, 8 घंटे की नींद और 6 घंटे की अन्य एक्टिविटीज करना।

साइंस से कॉमर्स विषय में ले लिया था एडमिशन

बता दें, ऐश्वर्या ने कभी कोचिंग क्लास नहीं ली है। उन्होंने कहा, "मेरी राय में, कोचिंग में शामिल होना एक व्यक्तिगत पसंद है। मैं बचपन से ही हमेशा सेल्फ स्टडीज के फॉर्मूले पर विश्वास करती हूं।" ऐश्वर्या एक साइंस स्टूडेंट थीं मगर बाद में दिल्ली के श्रीराम कॉलेज आफ कॉमर्स में एडमिशन लिया। उनके पिता कर्नल अजय कुमार एनसीसी तेलंगाना बटालियन के कमांडिंग आफिसर हैं। बता दें कि यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग ने 2019 सिविल सर्विस एग्जाम के नतीजे मंगलवार को जारी किए। इसमें हरियाणा के प्रदीप सिंह ने टॉप किया है। दूसरे नंबर पर जतिन किशोर और तीसरे स्थान पर सुल्तानपुर की प्रतिभा वर्मा ने जगह पाई है।

Advertisement
Back to Top