दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना, भागीरथ पैलेस में जमकर उड़ाई जा रही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

Social Distancing is not following in Bhagirath Palace - Sakshi Samachar

उत्तर भारत का सबसे बड़ा बाजार है भागीरथ पैलेस

बंद होने पर रहती है दवा आपूर्ति बाधित होने की आशंका

लोग नहीं कर रहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

नई दिल्ली : दिल्ली में एक ओर जहां तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, वहीं त्योहारों का मौसम समाप्त होने के बाद भी दिल्ली के बाजारों में बेतहाशा भीड़ है। इस भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां सरेआम उड़ाई जा रही हैं। न तो दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और न ही खरीदार सावधानी बरत रहे हैं।

पुरानी दिल्ली का भागीरथ पैलेस, दवाई और मेडिकल के सामान का पूरे उत्तर भारत में सबसे बड़ा बाजार है। यहां होलसेल व खुदरा दोनों दुकाने हैं। बाजार बंद होने की स्थिति में दिल्ली और एनसीआर के कई दवा विक्रेताओं को सप्लाई की जाने वाली दवाओं की आपूर्ति बाधित होने की आशंका बनी रहती है। ऐसी स्थिति में विभिन्न दवा कंपनियों के डायरेक्ट डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम से दवा की आपूर्ति संभव हो पाती है। 

प्रतिदिन आते हैं हजारों लोग
इसके अलावा अभी तक इस बाजार को चार-पांच दिन से ज्यादा बंद करने की आवश्यकता नहीं पड़ी है, जिसके चलते दवाओं की आपूर्ति पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ा है। यहां हजारों लोग खरीदारी के लिए प्रतिदिन आते हैं। इसी को देखते हुए पुलिस ने पहले यहां वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था, ताकि इलाके में भीड़ न बढ़े। हालांकि अब वाहनों के साथ ही फुटपाथ और सड़क के दोनों ओर भी दुकानें लगाई जा रही हैं।

दो बार किया जा चुका है बंद
खास बात यह है कि भागीरथ पैलेस बाजार लॉकडाउन के बाद भी दो बार बंद किया जा चुका है। देश के इस सबसे बड़े दवा बाजार को कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बंद करना पड़ा था। भागीरथ पैलेस मार्केट एसोसिएशन ने कहा, "कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए हमने लॉकडाउन के बाद भी स्वयं ही दो बार बाजार बंद करने का निर्णय लिया था। ऐसा इसलिए किया गया था ताकि दुकानदारों और यहां आने वाले खरीदारों को कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके।"

सड़क पर करते हैं लोडिंग
यहां ज्यादातर थोक दुकानदार हैं। ऐसे में यहां खरीदारी के साथ साथ सड़क पर ही लोडिंग का काम भी जारी है। सड़क की दोनों पटरियों पर मास्क, सैनिटाइजर एवं अन्य सामान खरीदे बेचे जा रहे हैं। इतना ही नहीं कोरोना के मामले 8000 के पार पहुंचने के बावजूद सैकड़ों लोग अभी भी यहां बाजार में बिना मास्क के घूम रहे हैं। केवल खरीदार ही नहीं कई दुकानदार भी इस प्रकार की लापरवाही में शामिल हैं। हालांकि बाजार में बड़ी संख्या में लोग मास्क पहने हुए दिखाई दिए। 

दुकानदार ने क्या कहा
भागीरथ पैलेस में दुकान चलाने वाले सुभाष चक्रवर्ती ने कहा, "मार्केट एसोसिएशन कई बार सावधानी बरतने की अपील कर चुका है। बावजूद इसके कई दुकानदार एवं कर्मचारी अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं। कई लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं। लापरवाही केवल इतनी ही नहीं है बल्कि दुकानदारों ने सड़कों पर अपना सामान फैला रखा है, जिससे मार्केट में जाम लगता है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है।"

इसे भी पढ़ें : 

दिल्ली में मजदूरों के खाते में 72 घंटों के भीतर सरकार डलवाएगी पैसा, डिप्टी सीएम ने दिये निर्देश

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से ऐसे बाजारों को बंद करने की अनुमति मांगी है, जो कोरोना हॉटस्पॉट बन चुके हैं और जहां कोरोना नियमों की अनदेखी की जा रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, "दूसरा हमने देखा कि कुछ बाजारों में काफी संख्या में लोग न तो मास्क पहन रहे थे न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। इसकी वजह से कोरोना बहुत ज्यादा फैला। यदि कोरोना नियमों की अनदेखी के कारण दिल्ली के किसी बाजार में कोरोना फैलता है और वह इलाका कोरोना हॉटस्पॉट बन जाता है, तो उसे कुछ दिनों के लिए बंद करने की इजाजत दिल्ली सरकार को दी जाए। इस संबंध में हमने एक प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है।"

Advertisement
Back to Top