Corona Research : अब लामा से होगा कोरोना का अंत, वैज्ञानिकों ने की ऐंटीबॉडीज की पहचान

scientists traced two antibodies from llamas which have the quality to neutralise corona - Sakshi Samachar

शोध में वैज्ञानिकों को मिली सफलता

लामा में मिले कोरोनो को मारने वाले ऐंटीबॉडीज

नई दिल्ली : दुनिया भर में कोरोना महामारी से निपटने के तरीके ढूंढने के प्रयास जोर-शोर से जारी हैं। इसी कड़ी में दक्षिण अमेरिकी लामाओं से वैज्ञानिकों ने दो ऐसी ऐंटीबॉडीज की पहचान करने का दावा किया है। इन वैज्ञानिकों का कहना है कि इनसे कोरोना वायरस से निपटा जा सकता है।

उत्साह जनक नतीजे

जानकारी के मुताबिक वैज्ञानिकों ने  कहा है कि दक्षिण अमेरिकी स्तनधारियों लामाओं से कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है। उनके मुताबिक लामाओं से निकाले गये दो छोटे, स्थिर एंटीबॉडीज पर शोध करने के बाद नतीजे उत्साहजनक मिले हैं। 

कोरोना को निष्क्रिय करने की क्षमता

इस शोध की जानकारी ‘नेचर स्ट्रक्चरल एण्ड मॉलिक्यूलर बॉयोलॉजी’ नामक मैग्जीन में प्रकाशित की गयी है। जिसमें कहा गया है कि ‘नैनोबॉडीज’ प्रोटीन एसीई-2 के साथ अंतःक्रिया को रोककर कोविड-19 और सार्स-सीओवी-2 के साथ संक्रमण को रोका जा सकता है। मौजूदा रिसर्च में उन्होंने सार्स-सीओवी-2 को बेअसर करने के लिए दक्षिण अमेरिकी लामाओं से प्राप्त एंटीबॉडीज की क्षमता को जांचा। 

अध्ययनकर्ताओं ने जानकारी दी कि अधिकतर स्तनधारियों की तरह मानव एंटीबॉडी में भी दो सीरीज होती हैं। Heavy और Light , लेकिन लामा जैसे जीवों में एक और एकल भारी सीरीज ऐंटीबॉडी भी रहती है। इस ऐंटीबॉडी को नैनोबॉडी कहा जाता है। वैज्ञानिकों ने बताया कि नैनोबॉडी छोटे, स्थिर और आसानी तैयार होते हैं। इस तरह ये ऐंटीबॉडीज पारंपरिक तरीके से काम करते हैं।

Advertisement
Back to Top