रघुवंश बाबू की हुई साजिशन 'हत्या', भावुक मांझी ने लगाया बड़ा आरोप

Raghuvansh Prasad Singh Death Manjhi alleges Tej Pratap - Sakshi Samachar

रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर राजनीति

मांझी का राजद नेता तेज प्रताप पर बड़ा आरोप

पटना: रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन से बिहार ही नहीं बल्कि देशभर में लोग आहत हैं। इस बीच दिग्गज नेता के देहावसान के साथ राजनीति भी शुरू हो चुकी है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने राजद के खिलाफ इमोशनल कार्ड खेला है।

मांझी ने लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि तेज के बयानों ने ही रघुवंश बाबू की जान ले ली। रघुवंश बाबू के निधन का कारण तेजप्रताप यादव को बताये जाने के बाद बिहार की सियासत गर्मा गई है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने सवाल उठाया कि रघुवंश बाबू के निधन पर उनके पार्थिव शरीर के ऊपर पुष्पांजलि अर्पित करने खुद सीएम नीतीश और तमाम पार्टियों के नेता पहुंचे। वहीं तेजस्वी यादव ने दिग्गज नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए वक्त नहीं निकाला। 

मांझी ने तेज प्रताप के उस बयान का हवाला दिया। जिसमें तेज ने कहा था कि रघुवंश प्रसाद सिंह के पार्टी छोड़ने से लोटा भर पानी ही खाली होगा, जबकि राजद तो समुंदर है। मांझी ने आहत स्वर में कहा कि जिस रघुवंश प्रसाद सिंह ने 35 सालों तक राजद को खड़ा करने में खून पसीना बहाया। उनके बारे में इस तरह के हल्के बयान ने उन्हें भीतर से तोड़ दिया। इसी चलते सदमे में उनकी जान चली गई। बकौल मांझी रघुवंश बाबू बयान की पीड़ा सह नहीं सके और उनका निधन हो गया। मांझी ने तो यहां तक कहा कि रघुवंश बाबू का निधन नहीं, बल्कि लालू परिवार के द्वारा साजिशन हत्या की गई है।

बीजेपी ने भी मांझी के सुर में सुर मिलाया

वहीं जीतन राम मांझी के सुर में सुर मिलाते हुए बीजेपी ने भी तेज प्रताप को दिग्गज नेता के निधन के लिए जिम्मेदार ठहराया। बीजेपी नेता प्रेम रंजन पटेल ने इस बारे में तेज प्रताप पर निशाना साधा। पटेल के मुताबिक रघुवंश प्रसाद लालू से बड़े कद के नेता थे। लालू के बेटे द्वारा किया गया अपमान उनके लिए असहनीय था और उनकी जान चली गई। 
 

Advertisement
Back to Top