कोरोना संकट पर पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक जारी

PM Narendra modi meeting with Cm of states over spike of corona cases  - Sakshi Samachar

नई दिल्ली: कोरोना के बढ़ते कहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(PM Modi) मीटिंग कर एक बार फिर मुख्यमंत्रियों के साथ आज बैठक कर रहे हैं। बैठक में कोरोना(Covid-19) की वर्तमान स्थिति की समीक्षा और कोरोना वैक्सीन(Vaccine) के वितरण की रणनीति पर भी चर्चा हो सकती है। सबसे पहले कोरोना वैक्सीन किसे दी जाए इसे लेकर नीति आयोग ने रणनीति बना ली है। 

बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई। इस दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 10 नवंबर को आई पीक वेव के बाद से दिल्ली में कोरोना के मामलों में कमी आई है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जानकारी दी कि उन्होंने एक टास्क फोर्स का गठन किया है, जो राज्य में कोविड वैक्सीन के वितरण पर काम कर रही है। इसके अलावा वो सीरम इंस्टीट्यूट के अदार पूनावाला के संपर्क में भी बने हुए हैं।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल की मांग

बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए और उन्होंने केंद्र सरकार से राजधानी में 1000 अतिरिक्त आईसीयू बेड्स की मांग की है। साथ ही दिल्ली सीएम ने पीएम मोदी से प्रदूषण के मसले पर दखल देने की अपील की है।

गृह मंत्री अमित शाह ने दी हिदायत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की शुरुआत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संबोधन से हुई। अमित शाह ने कहा कि यूरोप-अमेरिका में फिर से मामले बढ़े हैं, ऐसे में हमें सावधान रहना होगा। अमित शाह ने राज्यों से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क को अनिवार्य करने पर जोर देने को कहा। अमित शाह के बाद स्वास्थ्य सचिव ने आगामी दिनों की जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली, केरल, महाराष्ट्र और राजस्थान को विशेष सावधानी बरतनी पड़ेगी।

पहले चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना से प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। इस बैठक में कुल आठ राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए, जिसमें दिल्ली, गुजरात, बंगाल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री मौजूद रहे। ये वो राज्यों हैं, जहां कोरोना का कहर सबसे ज्यादा है। इनमें राजस्थान, हरियाणा, केरल और छत्तीसगढ़ भी शामिल हैं। 

इसके बाद दोपहर 12 बजे से बाकी बचे राज्यों के सीएम प्रधानमंत्री के साथ होने वाली इस अहम बैठक में शामिल होंगे। दोपहर वाली बैठक में कोरोना वैक्सीन वितरण की रणनीति पर चर्चा होगी। सूत्रों के मुताबिक, आज की बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल होंगी। प्रधानमंत्री मोदी कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए अब तक कई बार राज्यों के साथ बैठकें कर चुके हैं। 

देश में बढ़ा कोरोना का खतरा 
देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले पिछले कुछ दिनों से 50,000 के नीचे आ रहे हैं, वहीं कुछ राज्यों में मामले तेजी से बढ़े हैं। गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान के कुछ जिलों, शहरों में तो नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है। इसके साथ-साथ शादी समारोहों जैसे कार्यक्रमों में गेस्ट की संख्या भी तय कर दी गई है। इसके अलावा मास्क नहीं लागने वालों के लिए जुर्माने की राशि को भी बढ़ा दिया गया है।

वैक्सीन का है बेसब्री से इंतजार
लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में सख्ती बरती जा रही है। वहीं ऐसी रिपोर्ट है कि प्रधानमंत्री के साथ बैठक के बाद राज्य अपने यहां कोविड से बचाव के लिए और सख्ती बरत सकते हैं। इनमें लॉकडाउन या वीकेंड लॉकडाउन जैसी व्यवस्था भी शामिल हो सकती है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सभी लोगों को वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार है। ऐसे में ये सवाल उठता है कि कोविड-19 वैक्सीन सबसे पहले किसे मिलेगी। इसपर नीति आयोग ने प्राथमिक रणनीति तैयार कर ली है। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने बताया कि 1 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को शुरुआती चरण में प्राथमिकता दी जाएगी। 

जल्द तैयार हो जाएगी वैक्सीन 
उधर, केंद्र सरकार की ओर से लगातार ये प्रयास हो रहे हैं कि जब भी कोरोना की वैक्सीन उपलबध होगी, उसके सुचारू वितरण की व्यवस्था हो सके। भारत में फिलहाल 5 वैक्सीन तैयार होने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इनमें से चार परीक्षण के दूसरे या तीसरे चरण में हैं, जबकि एक पहले या दूसरे चरण में है।

Related Tweets
Advertisement
Back to Top