कोरोना काल में पीएम मोदी के मन की बात, कहा- दूसरे देशों के मुकाबले भारत की स्थिति बेहतर

PM Narendra Modi address Nation Radio Programme Mann Ki Baat - Sakshi Samachar

पीएम नरेंद्र मोदी ने की 'मन की बात'

कोरोना वायरस के संकट पर देशवासियों को दिया संदेश

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के जरिए देश को संबोधित किया है। अनलॉक-1 के तहत एक जून से देशभर में मिलने वाली छूट और कोरोना से देश में हालात जैसे मुद्दे पर पीएम मोदी ने अपनी बात रखी। आज से लॉकडाउन 4 खत्म हो रहा है। 1 जून से नई गाइडलाइंस के तहत पूरे देश को अनलॉक किया जा रहा है।   

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' रेडियो कार्यक्रम के 65वें भाग में एक बार फिर से देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि पिछली बार जब मैंने पिछली बार आपसे मन की बात की थी, तब यात्री ट्रेनें बंद थीं, बसें बंद थीं, हवाई सेवा बंद थी। इस बार, बहुत कुछ खुल चुका है। श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल रही हैं, अन्य स्पेशल ट्रेनें भी शुरू हो गई हैं। तमाम सावधानियों के साथ, हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है, यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है, खुल गया है। ऐसे में, हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई को आम जनता ही लड़ रही है। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में हमारे नागरिकों की कुछ नया करने की भावना जोश भर रही है। कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई देश के लोगों के नेतृत्व में लड़ी जा रही है और इस लड़ाई में देश की ‘सेवा शक्ति' नजर आ रही है। अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा अब खुल गया है, इसलिए अब और अधिक सतर्क रहना महत्वपूर्ण हो गया है।

इससे पहले पीएम मोदी ने शुक्रवार को देश के नाम एक पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि हमें पूरे जोश के साथ देश का निर्माण करना है। ये विश्वास है कि जैसे भारत ने अपनी एकजुटता से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी दुनिया को अचंभित किया है, वैसे ही आर्थिक क्षेत्र में भी हम नई मिसाल कायम करेंगे। 

अनलॉक-1 के लिए जारी हुआ निर्देश

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने जून महीने में लागू होने वाले नये दिशा-निर्देशों की शनिवार को घोषणा की, जिनमें देश में 25 मार्च से लागू लॉकडाउन में काफी छूट दी गयी है तथा इसके तहत शॉपिंग मॉल, रेस्तरां और धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति होगी। देश के संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में 30 जून तक लॉकडाउन का कड़ाई से पालन होता रहेगा।

गृह मंत्रालय देश के निषिद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा की। साथ ही कहा कि आठ जून से आतिथ्य सत्कार (हॉस्पिटेलिटी) सेवाओं, होटलों और शॉपिंग मॉल को चरणबद्ध तरीके से खोलने की अनुमति होगी। स्कूल और कॉलेजों को खोलने के बारे में राज्य सरकारों के साथ जुलाई में विचार विमर्श कर निर्णय किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें : 

लॉकडाउन-5 नहीं अब आ गया अनलॉक-1, आठ जून से खुलेंगे मॉल-रेस्टोरेंट, मंदिर

पीएम मोदी का जनता के नाम पत्र, कहा- सरकार के लिए फैसले हैं बड़े सपनों की उड़ान

केन्द्र सरकार ने कंटेनमेंट जोन तय करने और स्थान विशेष को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के लिए राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को और अधिकार दिए हैं। दिल्ली में फिलहाल 122 निषिद्ध क्षेत्र हैं और देश के करीब 30 निकाय क्षेत्रों को कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र माना जा रहा है। 

लॉकडाउन के बाद देश को चरणबद्ध तरीके से खोलने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए केन्द्र ने कहा है कि सार्वजनिक धार्मिक स्थलों, होटलों, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल और अन्य आतिथ्य सत्कार सेवाएं भी आठ जून से शुरू हो जाएंगी।

Advertisement
Back to Top