कुछ ही देर में प्रधानमंत्री देश को करेंगे संबोधित, जानिए क्या-क्या ऐलान कर सकते हैं पीएम मोदी

PM Narendra Modi Address Nation - Sakshi Samachar

कोविड-19 के प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम यह छठा संबोधन

कोरोना वायरस, चीन विवाद जैसे कई मुद्दे इस वक्त देश को कर रहे प्रभावित

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब से थोड़ी ही देर में राष्ट्र को संबोधित करेंगे। उनका यह संबोधन ऐसे समय हो रहा है जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। यह संबोधन ऐसे समय भी हो रहा है जब देश कोविड-19 महामारी के रोज बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन में ढील के ‘अनलॉक-2' में प्रवेश करने जा रहा है, जिसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार रात दिशा-निर्देश जारी किए। कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी अपने संबोधन में कई अहम विषयों को देशवासियों के सामने रखेंगे।

देश में कोविड-19 के प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम यह छठा संबोधन होगा। मोदी ने पिछली बार देश को 12 मई को संबोधित किया था जब उन्होंने अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज की घोषणा की थी। रविवार को प्रसारित हुए ‘मन की बात' कार्यक्रम में मोदी ने कहा था कि भारत ने लद्दाख में अपनी भूमि पर बुरी नजर डालने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया है।

कोरोना के बढ़ते मामले पर दे सकते हैं सुझाव

देश में लगातार बढ़ते कोरोना के मामले सरकार के लिए भी चुनौती है। दिल्ली, मुंबई जैसे महानगर में इस महामारी ने विकराल रूप ले लिया है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी अपने संबोधन में कोरोना से बचाव और सतर्कता जैसे मुद्दे को शामिल कर सकते हैं। वह देशवासियों से एक बार फिर अपील कर सकते हैं कि कोरोना को हराने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जैसे सभी ऐहतियात बरतें।

अनलॉक 2 की गाइडलाइंस पर रख सकते हैं अपनी राय

1 जुलाई से देशभर में अनलॉक 2.0 लागू होने जा रहा है। गृह मंत्रालय ने सोमवार की देर शाम इस बाबत गाइडलाइंस जारी कर दी है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी गाइडलाइंस से जुड़ी खास बातों का जिक्र कर सकते हैं। इसके अलावा, किन बातों को ध्‍यान में रखकर गाइडलाइंस तैयार की गई हैं, उनका मकसद क्‍या है, इस बारे में भी प्रधानमंत्री बता सकते हैं।

चीन से बढ़ी तल्खी और ऐप्स बैन पर दे सकते हैं जानकारी

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर बढ़ते तनाव पर प्रधानमंत्री जनता को संबोधित करते हुए वास्तविक हालात के बारे में जानकारी दे सकते हैं। सोमवार को भारत सरकार ने चीन को बड़ा झटका देते हुए 59 चीनी ऐप्स बैन कर दिए हैं। इस स्थिति में वह देश को बताएंगे कि आखिर किन परिस्थितियों और कारणों की वजह से सरकार को यह फैसला लेना पड़ा है।

Loading...
Advertisement
Back to Top