टैंक पर सवार हुए PM मोदी, सैनिकों से बोले- आपकी हुंकार से कांपता है दुश्मन

 PM Modi will celebrate Diwali with soldiers today - Sakshi Samachar

सैनिकों के नाम दीया जलाने की अपील 

जवानों के परिवारों के भी आभारी हैं

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी जैसलमेर बॉर्डर में जवानों के साथ दिवाली मनाई हैं। पीएम मोदी के साथ सीडीएस बिपिन रावत, आर्मी चीफ एमएम नरवणे और बीएसएफ के डीजी राकेश अस्थाना मौजूद थे। इसके बाद उन्होंने जवानों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप सभी जवानों को दिवाली की शुभकामनाएं देता हूं। मैं हर भारतीय की शुभकामनाएं आपके पास लेकर आया हूं। आप हैं तो देश है, देश के त्यौहार हैं। 

आपके बीच आकर पूरी होती है दिवाली
पीएम मोदी ने कहा कि आप भले ही बर्फीली पहाड़ी पर रहें या फिर रेगिस्तान में। मेरी दीवाली आपके बीच आकर पूरी होती है आपके चेहरे की रौनक देखता हूं तो मेरी खुशी बढ़ जाती है। देश के उल्लास को आप तक पहुंचाने के लिए आपके बीच आया हूं, आपके लिए मैं मिठाई भी लेकर आया हूं. लेकिन ये देश का पीएम मिठाई देने नहीं आया है, ये सभी देशवासियों का प्रेम और अपनेपन का स्वाद लेकर आया है। इस मिठाई में आप देश की हर मां के हाथ की मिठास महसूस कर सकते हैं। बाप भाई के आशीर्वाद को महसूस कर सकते हैं।

पीएम ने याद दिलाया लोंगेवाला का शौर्य
पीएम मोदी ने जवानों से कहा कि आप हिमालय की बुलंदियां हों, रेगिस्तान का विस्तार हो, घने जंगल हों या फिर समंदर की गहराई हो, हर चुनौती पर हमेशा आपकी वीरता भारी पड़ी है। उन्होने आगे कहा कि इस पोस्ट पर आपके साथियों ने शौर्य की ऐसी गाथा लिखी है, जो हर भारतीय को जोश से भर देती है। देश की सरहद पर अगर किसी एक पोस्ट का नाम देश के सबसे ज्यादा लोगों को याद होगा, वो पोस्ट लोंगेवाला पोस्ट है।

पीएम मोदी ने कहा कि भले ही International Cooperation कितना ही आगे क्यों न आ गया हो, समीकरण कितने ही बदल क्यों न गए हों, लेकिन हम कभी नहीं भूल सकते कि सतर्कता ही सुरक्षा की राह है, सजगता ही सुख-चैन का संबल है। सामर्थ्य ही विजय का विश्वास है, सक्षमता से ही शांति का पुरस्कार है। आपके इसी शौर्य को नमन करते हुये आज भारत के 130 करोड़ देशवासी आपके साथ मजबूती से खड़े हैं। आज हर भारतवासी को अपने सैनिकों की ताकत और शौर्य पर गर्व है। दुनिया की कोई भी ताकत हमारे वीर जवानों को देश की सीमा की सुरक्षा करने से रोक नहीं सकती है। 

पीएम मोदी का चीन पर करारा वार
आज पूरा विश्व विस्तारवादी ताकतों से परेशान हैं। विस्तारवाद, एक तरह से मानसिक विकृति है और अठ्ठारहवीं शताब्दी की सोच को दर्शाती है। इस सोच के खिलाफ भी भारत प्रखर आवाज बन रहा है। दुनिया ये जान रही है, समझ रही है कि ये देश अपने हितों से किसी भी कीमत पर रत्ती भर भी समझौता करने वाला नहीं है। भारत का ये रुतबा, ये कद आपकी शक्ति और आपके पराक्रम के ही कारण है। आपने देश को सुरक्षित किया हुआ है इसीलिए आज भारत वैश्विक मंचों पर प्रखरता से अपनी बात रखता है। 

सेनाओं के लिए निर्माण करें नौजवान
मोदी ने कहा कि हाल ही में हमारी सेनाओं ने निर्णय लिया है कि वो 100 से ज्यादा हथियारों और साजो-सामान को विदेश से नहीं मंगवाएगी। मैं सेनाओं को इस फैसले के लिए बधाई देता हूं। सेना के इस फैसले से देशवासियों को भी लोकल के लिए वोकल होने की प्रेरणा मिली है। मैं आज देश के नौजवानों से देश की सेनाओं के लिए निर्माण करने का आह्वान करता हूं। हाल के दिनों में अनेक स्टार्ट्स-अप्स सेनाओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए आगे आए हैं। डिफेंस सेक्टर में नौजवानों के नए स्टार्ट-अप्स देश को आत्मनिर्भरता के मामले में और तेजी से आगे ले जाएंगे।

आज भारत की रणनीति साफ है, स्पष्ट है। भारत समझने और समझाने की नीति पर विश्वास करता है लेकिन अगर हमें आज़माने की कोशिश होती है तो, जवाब भी उतना ही प्रचंड मिलता है।

पीएम मोदी ने 2014 में कार्यभार संभालने के बाद से पीएम उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, जम्मू कश्मीर के अग्रिम इलाकों में सैनिकों के साथ दिवाली मनाई हैं।पिछले साल 27 अक्टूबर 2019 को पीएम नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी में जवानों के साथ दीवाली मनाई थी। आर्मी ड्रेस में पीएम मोदी जवानों के बीच पहुंचे और उनके बीच मिठाइयां बांटी थी। इससे पहले 2018 में पीएम मोदी ने उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सेना और ITBP के जवानों के बीच दीवाली मनाई थी। 

दिया सैनिकों के नाम जलाने की अपील
छोटी दिवाली की पूर्व संध्या पर देश की जनता से इस दिवाली पर एक दिया सैनिकों के नाम जलाने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'इस दिवाली, आइए एक दिया सैल्यूट टू सोल्जर्स (सैनिकों को सलाम) के तौर पर भी जलाएं।

सैनिकों के अद्भुत साहस को लेकर हमारे दिल में जो आभार है उसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है। हम सीमा पर तैनात जवानों के परिवारों के भी आभारी हैं। 

Advertisement
Back to Top