जमात के लोगों की देखभाल नहीं करेंगी नर्सें, कार्रवाई की तैयारी में योगी सरकार

Nurses will not take care of Jamaat's people In Ghaziabad Yogi Government in Preparation For action - Sakshi Samachar

रासुका के तहत जमातियों पर कार्रवाई के मूड में सरकार

पुरुष करेंगे जमाती मरीजों की देखभाल

लखनऊ : कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान पुलिसकर्मियों और चिकित्सा कर्मियों के साथ अभद्रता या मारपीट करने वाले लोगों के खिलाफ उत्तर प्रदेश सरकार ने कडा फैसला लिया है। अब जमात के मरीजो की देखभाल नर्स की टीम नहीं करेगी बल्कि उनकी देखभाल कर पुरूष कर्मचारी करेंगे।

प्रदेश के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी है कि सरकार दोषियों के खिलाफ  बहुत सख्त कार्रवाई करेगी और इन पर रासुका भी लगाया जा सकता है। अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने  बताया, '' पुलिस तथा मेडिकल टीम पर हमला करने वालों या उनके साथ अभद्रता करने वालों के खिलाफ बहुत सख्त कार्रवाई होगी और ऐसे लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत भी कार्रवाई हो सकती है।'' 

प्रदेश सरकार यह कदम ऐसे लोगों के लिये उठा रही है जो लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं और पुलिस वालों के साथ अभद्रता या मारपीट कर रहे हैं। वहीं कुछ अन्य राज्यों में स्वास्थ्य विभाग के लोगों के साथ भी अभद्रता के समाचार मिले हैं। 

बीते बृहस्पतिवार को गाजियाबाद में जमात के लोगों की नर्स से अभद्रता के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने कड़ा फैसला लिया है।  ने अब सिर्फ पुरुष कर्मचारी उनकी देखरेख करेंगे।

हालांकि उत्तर प्रदेश में किसी स्वास्थ्य कर्मी के साथ ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई है। गत एक अप्रैल को मुजफ्फरनगर में एक गांव में कुछ लोगों ने बंद का पालन कराने गये पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया था जिसमें एक सब इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल बुरी तरह से जख्मी हो गये थे। इसी तरह लॉकडाउन लागू करवाने के दौरान कुछ अन्य जगहों से भी पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता की खबरें आयी हैं। 

Advertisement
Back to Top