हिंदू महिला की अर्थी को मुस्लिमों ने दिया कंधा, नहीं थे अंतिम संस्कार के पैसे

Muslim Cremated Hindu Woman In Indore - Sakshi Samachar

मुस्लिमों ने किया हिन्दू महिला का अंतिम संस्कार

 बुज़ुर्ग महिला को मोहल्ले वाले दुर्गा मां कहते थे 

इंदौर : मध्य प्रदेश के इंदौर में इंसानियत की एक बेहतरीन मिसाल देखने को मिली। यहां के साउथ तोड़ा जूना गणेश मंदिर के नजदीक रहने वाली एक बुज़ुर्ग महिला का निधन हो गया। उनके दो बेटे है लेकिन उसके पास इतने पैसे भी नही थे कि अपनी मां का अंतिम संस्कार कर सकें। जब मुहल्ले के अकील, असलम, मुदस्सर, राशिद इब्राहिम, इमरान सिराज जैसे मुस्लिम लड़के आए और उसकी मां का अंतिम संस्कार किया।

बताया जाता है कि मंदिर के नजदीक रहने वाली महिला को मुहल्ले वाले दुर्गा मां नाम से पुकारते थे, कुछ दिनों से बीमार थीं। रात को मोहल्ले में रहने वाले  मुस्लिम परिवारों ने तबियत पूछी फिर सुबह जब देखा तो मुहल्ले में रोना धोना शुरू हो गया, मालूम पड़ा के दुर्गा मां नही रही। उनके दो लड़के है जो कही और रहते है उन्हें बुलाया जब वो आए तो उसके पास मां का अंतिम संस्कार किया पैसे नहीं थे। फिर मोहल्ले के मुस्लिम लड़कों ने महिला की अर्थी को कंधा दिया और अंतिम संस्कार किया। लोग इसे हिन्दू-मुस्लिम एकता का मिसाल बता रहे हैं। 

आप को बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ता ही जा रहा है। इंदौर में चार और मरीजों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत की सोमवार को पुष्टि की गई।  इसके बाद सूबे में इस महामारी से दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 18 पर पहुंच गई है।  शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि एक महिला और तीन पुरुषों ने पिछले पांच दिन में शहर के अलग-अलग अस्पतालों में दम तोड़ा। 

इसे भी पढ़ें : 

देशभर लॉकडाउन में परेशान, खनन माफियाओं की चंबल में कट रही चांदी​

मोदी के साथ बैठक में शामिल नहीं होने पर भड़के ओवैसी, कहा- यह हैदराबाद और औरंगाबाद की तौहीन है

Advertisement
Back to Top