एक बार फिर से हिरासत में ली गयीं महबूबा मुफ्ती, जम्मू-कश्मीर प्रशासन पर लगा रही हैं आरोप

Mehbooba Mufti once again in custody in Jammu and Kashmir - Sakshi Samachar

श्रीनगर : जम्मू और कमीर (Jammu-Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ( Mehbooba Mufti) ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि उन्हें फिर से हिरासत में ले लिया गया है और यहां तक कि उनकी बेटी को भी नजरबंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा उनको एनआईए (NIA) द्वारा गिरफ्तार पीडीपी (PDP) नेता वहीद पारा ( Waheed Para) के परिवार से मिलने की इजाजत तक नहीं दी गई। राज्य प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए, महबूबा ने कहा कि सुरक्षा कारणों का हवाला देकर उनको वहीद पारा के परिवार से मिलने से रोका गया, जबकि भाजपा नेताओं को पूरे कश्मीर में यात्रा करने की अनुमति है।

महबूबा ने किया ये ट्वीट
महबूबा ने ट्वीट किया, मुझे फिर से अवैध रूप से हिरासत में रखा गया है। दो दिनों से, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मुझे पुलवामा में वहीद पारा के परिवार से मिलने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। भाजपा के मंत्रियों और उनके कठपुतलियों को कश्मीर के हर कोने में घूमने की अनुमति है। सुरक्षा केवल एक बहाना है। उन्होंने दावा किया कि उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती, जो पारा के घर जाकर अपने परिवार से मिलना चाहती थी, को भी घर में नजरबंद कर लिया गया है।

उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किया, उनकी क्रूरता की कोई सीमा नहीं है। वहीद पारा को बेबुनियाद आरोपों में गिरफ्तार किया गया और मुझे उसके परिवार को सांत्वना देने की भी अनुमति नहीं है। यहां तक कि मेरी बेटी इल्तिजा को भी नजरबंद कर दिया गया है क्योंकि वह भी वहीद के परिवार से मिलना चाहती थी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गिरफ्तार डिप्टी एसपी देविंदर सिंह और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नवीद बाबू के मामले में बुधवार को पीडीपी नेता वहीद पारा को भी गिरफ्तार कर लिया। पारा पर एक साजिश के जरिए हिजबुल मुजाहिदीन का समर्थन करने का आरोप है।

पहले भी गिरफ्तार हो चुकी हैं महबूबा मुफ्ती
बता दें कि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती इससे पहले भी हिरासत में ली जा चुकी हैं। उन्हें दो अन्य मुख्यमंत्रियों डॉ. फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला के साथ पिछले साल 2019 को पांच अगस्त को राज्य से अनुच्छेद 370 हटाने के दिन गिरफ्तार किया गया था। हालांकि उन्हें इस साल अक्टूबर महीने रिहा कर दिया गया था। 

Advertisement
Back to Top