कोविड-19 पर ग्लोबल समिट में शामिल हुई दिल्ली, मनीष सिसोदिया ने गिनाए अपने काम

Manish Sisodia participated in CAC Global Summit 2020 - Sakshi Samachar

दिल्ली में पहला कोविड-19 पॉजिटिव केस दो मार्च को मिला था

बारहवीं कक्षा तक के लगभग नौ लाख छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा

नई दिल्ली :  दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल से ऑनलाइन आयोजित की गई  एक ग्लोबल समिट में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा भाग लिया। इस कोविड -19 ग्लोबल समिट 2020 को संबोधित करते हुए दिल्ली सरकार के द्वारा किए जा रहे कार्यों को साझा किया। यह ग्लोबल समिट दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल से आयोजित की गई।

ग्लोबल समिट को संबोधित करते हुए सिसोदिया ने कोरोना वायरस को नियंत्रित करने संबंधी दिल्ली सरकार के प्रयासों और अनुभवों पर प्रकाश डाला।
उन्होंने कहा, "दिल्ली में पहला कोविड-19 पॉजिटिव केस दो मार्च को मिला था। पूर्ण लॉकडाउन के कारण हमें नागरिकों के बीच कोरोना वायरस संबंधी जागरूकता फैलाने और हमारे स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करने में सफलता मिली।"

सिसोदिया ने कहा, "अब हम दिल्ली को अनलॉक कर रहे हैं। हमने सभी प्रकार की मेडिकल सुविधाओं संबंधी तैयारियों कर ली हैं। अब हमारे पास कोरोना वायरस के संक्रमण संबंधी समझ भी है। लिहाजा अब हम कोरोना से लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।"

सिसोदिया ने शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करने के अनुभव भी बताए। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सबसे अधिक संतुष्टि की बात यह है कि लॉकडाउन के दौरान हमने नए प्रकार की शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से बच्चों का न सिर्फ समय का नुकसान रोका बल्कि सीखने के नये अवसर भी प्रदान किये। हमने केजी से लेकर बारहवीं कक्षा तक के लगभग नौ लाख छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान की।

ग्लोबल समिट में भागीदारी के बाद उपमुख्यमंत्री ने इसे एक अच्छा अनुभव बताया। उन्होंने कहा "सियोल सरकार द्वारा सीटीज एगेंस्ट कोविड-19 ग्लोबल समिट 2020 में दुनिया भर के विभिन्न महानगरों के प्रमुख नेताओं के साथ चर्चा का अवसर मिला। कोरोना वायरस से लड़ने की बड़ी चुनौती ने विश्व समुदाय को एक साथ आने और परस्पर सहयोग का शानदार अवसर प्रदान किया है।"

इसे भी पढ़ें : 

दिल्ली : LG ऑफिस में 13 लोग कोरोना पॉजिटिव, 20 पुलिस वाले भी संक्रमित

सिटीज एगेंस्ट कोविड 19 ग्लोबल समिट में सियोल, मॉस्को, जकार्ता, इस्तांबुल, बुडापेस्ट, तेहरान, तेल अवीव, ब्यूनस आयर्स, वैंकूवर और चोंगकिंग सहित 21 प्रमुख महानगरों के महापौर एवं विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

Advertisement
Back to Top