इस राज्य में फिर लग सकता है लॉकडाउन, मंत्री ने दिया स्पष्ट संकेत

Maharashtra to impose Lockdown again due to increasing Coronavirus infection  - Sakshi Samachar

मुंबई: देश में त्योहारों के बाद से कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण में लगातार इजाफा और अब लॉकडाउन की आशंका ने लोगों को परेशान कर दिया है। लोगों को डर सताने लगा है कि कहीं सरकार फिर से लॉकडाउन न लगा दे। इससे पहले अहमदाबाद में आंशिक कर्फ्यू लगाई गई है। साथ ही दिल्ली में भी सीमित तौर पर पाबंदियां लगी है। इन सबके बीच देश में एक राज्य ऐसा भी है जो फिर से पूरी तरह लॉकडाउन लगाने की सोच रहा है। इस बारे में खुलकर संकेत भी मिल रहे हैं। 

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार (Maharashtra Deputy CM Ajit Pawar) ने इस बारे में खुलकर कहा कि महाराष्ट्र में दो तीन दिनों तक हालात की समीक्षा होगी। अगर हालात सुधारने का कोई और तरीका नजर नहीं आया तो लॉकडाउन लगाने से भी सरकार पीछे नहीं रहेगी। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार की बातचीस से साफ लगता है कि हालिया त्यौहारों में भीड़ भाड़ की कीमत लॉकडाउन के तौर पर लोगों को चुकानी पड़ सकती है। 

दिवाली (Diwali) व इससे पहले गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) साथ ही बिहार के लोकपर्व छठ ने लोगों को कुछ हद तक बेफिक्र कर दिया था। जिसके बाद से दिल्ली, मुंबई और गुजरात के बड़े हिस्से में कोरोना संक्रमण की बड़ी तस्वीर सामने आने लगी है। महाराष्ट्र सरकार ने पहले ही कई तरह की पाबंदियां लगाई हैं। स्कूल कॉलेज बंद है साथ ही लोकल ट्रेनों में सीमित लोगों को ही चढ़ने की इजाजत है। 

महाराष्ट्र में 17 लाख 74 हजार से ज्यादा मामले

बता दें महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 5,760 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या शनिवार को बढ़कर 17,74,455 हो गई। शनिवार को संक्रमण के चलते 62 रोगियों की मौत हुई है, जिसके बाद मृतकों की कुल संख्या 46,573 हो गई। अधिकारियों के मुताबिक राज्य में संक्रमण से मुक्त होने के बाद आज 4,088 लोगों को छुट्टी दे गई, जिसके साथ ही अबतक 16,47,004 कोविड-19 मरीज ठीक हो चुके हैं। राज्य में फिलहाल 79,873 रोगियों का इलाज चल रहा है।

दिल्ली मुंबई के हाल से दहशत में लोग 

बड़े महानगरों में शामिल दिल्ली और मुंबई में जिस तरह संक्रमण मुंह फाड़े खड़ा है। उससे देश के बाकी राज्यों में लोगों में दहशत है। आम लोगों को लगता है कि महाराष्ट्र सरकार ने अगर लॉकडाउन लगाने की पहल की, तो फिर इनकी देखा देखी बाकी के राज्यों पर भी लॉकडाउन लगाने का दबाव बढ़ सकता है। बंदी के आलम में एक बार फिर से लोगों को बेरोजगारी की परेशानी झेलनी पड़ सकती है। साथ ही लोगों को व्यवसाय का भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। छोटे मोटे काम धंधे करने वालों को तो खाने पीने तक के लाले पड़ जाते हैं।  
 

Advertisement
Back to Top