लॉकडाउन-5 नहीं अब आ गया अनलॉक-1, आठ जून से खुलेंगे मॉल-रेस्टोरेंट, मंदिर

Lockdown to continue in Containment zones till June 30, Only essential activities allowed MHA - Sakshi Samachar

गृहमंत्रालय ने लॉकडाउन 5 को लेकर जारी की नई गाइडलाइंस 

रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक आवाजाही पर रोक

कंटेनमेंट जोन में सभी गतिविधियों पर रोक  

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने कंटेनमेंट जोन में राष्ट्रव्यापी बंद को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया है। इस बार जिन गतिविधियों में प्रतिबंध लगाया गया था, उन्हें अलग-अलग चरणों के हिसाब से दोबारा खोला जाएगा। ये गाइडलाइन्स 1 जून से 30 जून तक के लिए जारी रहेंगी। इसे अनलॉक का नाम दिया गया है। इसके तहत कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट दी जाएगी। लॉकडाउन तीन चरणों में खत्म कर दिया जाएगा।

इन सेक्टर्स में मिली राहत
पहला चरण : गृह मंत्रालय के अनुसार, 8 जून से धार्मिक गतिविधियां, होटल, रेस्तरां, शॉपिंग माल्स वगैरो को खोलने की खोलने की भी अनुमति होगी। इसके लिए अलग से गाइडलाइन जारी किया जाएगा।  

Lockdown to continue in Containment zones till June 30, only essential activities allowed: MHA #UNLOCK1 pic.twitter.com/ViPB0nfpJY

दूसरा चरण : स्कूल, कॉलेज, आदि खोले जाएंगे। स्टेट गवर्नमेंट्स को सलाह दी गई है कि वे पैरेंट्स और अन्य हितधारकों के साथ संस्था स्तर पर परामर्श करें। फीडबैक के आधार पर, जुलाई, 2020 में इन संस्थानों को फिर से खोलने पर निर्णय लिया जाएगा। मंत्रालय फिर इन संस्थानों के लिए एसओपी तैयार करेगा।

तीसरा चरण
यात्रियों की अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा, मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल, व्यायामशाला, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इसी तरह के स्थानों का संचालन। इसके अलावा, सामाजिक, राजनीतिक, खेल गतिविधियां, सांस्कृतिक और धार्मिक कार्य और अन्य बड़ी मंडलियां सीमा से बाहर रहेंगी। तीसरे चरण में, स्थिति के आकलन के आधार पर उनके खोलने की तारीखें तय की जाएंगी।

लोगों आवाजाही पर नही होगी रोक, लेकिन पालन करने होगे नियम
गाइडलाइन के अनुसार, किसी भी सामान और व्यक्ति के दूसरे राज्य में जाने या एक राज्य में एक जगह से दूसरी जगह पर जाने में कोई रोक नहीं रहेगी। इसके लिए किसी परमिशन या पास की भी जरूरत नहीं होगी। हालांकि, इसमें राज्यों के पास अधिकार होगा कि वे स्वास्थ्य कारणों के चलते आवाजाही पर रोक लगा सकते हैं।  इसके अलावा यात्री ट्रेनों, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों, घरेलू विमान यात्रा, वंदे भारत मिशन पहले की तरह ही जारी रहेगा।  पड़ोसी देशों से बॉर्डर के जरिए आने वाले सामानों की आवाजाही पर भी राज्य प्रतिबंध नहीं लगाएंगे। 

बच्चे-बुजुर्ग घर पर रहें
गाइडलाइन में 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग, 10 साल से छोटे बच्चे, बीमार शख्स और गर्भवती महिलाओं को घर पर रहने की सलाह दी गई है। ये लोग सिर्फ आवश्यक कामों के लिए ही बाहर निकलें। 

सार्वजनिक जगहों पर थूकना दंडनीय अपराध होगा
सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर जुर्माना लगेगा। इस पर राज्य अपने मुताबिक, कानून और जुर्माना तय कर सकेंगे। सार्वजनिक जगहों पर गुटखा, पान और तंबाकू के इस्तेमाल पर रोक रहेगी। 

बफर जोन की पहचान करेंगे राज्य
गृह मंत्रालय ने कहा, "राज्य और केंद्र शासित प्रदेश केंटेनमेंट जोन के बाहर बफर ज़ोन की पहचान करेंगे, जहां नए मामले आने की अधिक संभावना है।" इन बफर जोन में जिला प्रशासन जहां जरूरी होगा, वहां प्रतिबंध लगा सकेंगे।

गृहमंत्रालय ने कार्यस्थलों स्थलों के लिए अलग से जारी किए नियम
गृह मंत्रालय ने कार्यस्थलों के लिए अतिरिक्त नियम जारी किए हैं। जिसके तहत जहाँ तक संभव हो सके घर से काम करने की प्रथा का पालन किया जाना चाहिए। कार्यालयों, कार्यस्थलों, दुकानों, बाजारों और औद्योगिक और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में काम या व्यवसाय में काम के घंटों का पालन किया जाएगा। सभी निकास और प्रवेश बिंदुओं पर थर्मल स्कैनिंग, हैंड वाश और सैनिटाइज़र के लिए प्रावधान किया जाएगा। पूरे कार्यस्थल, सामान्य सुविधां और सभी बिंदुओं पर जो लोगों के संपर्क में आती हैं, उन्हें लगातार सैनिटाइज किया जाएगा। कार्यस्थलों पर पर्याप्त दूरी का पालन किया जाएगा। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दंडनीय होगा और शराब, पान, गुटका, तंबाकू आदि का सेवन प्रतिबंधित है।

Advertisement
Back to Top