बालासुब्रमण्यम के निधन पर बोले पीएम, कहा- हमारी सांस्कृतिक दुनिया का बड़ा नुकसान

pm modi condolence  - Sakshi Samachar

अपनी गायकी से लाखों दिलों को जीता

प्रशंसक उन्हें गायकी का चांद कहते थे

दशकों तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया

नई दिल्ली: प्रमुख गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन हो गया है। वह पिछले महीने कोविड-19 संक्रमण से ठीक होने के बाद दो दिन पहले उनकी अचानक बिगड़ी और शुक्रवार दोपहर 1.04 मिनट पर चेन्नई के एक निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सास लीं। उनके निधन की खबर सामने आते ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी शोक संवेदना जाहिर की।

खो गई सुरीली आवाज 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रसिद्ध गायक एसपी बालासुब्रमण्यम के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से भारतीय संगीत ने एक सुरीली आवाज खो दी जिन्हें उनके असंख्य प्रशंसक ‘गायकी का चांद' कहते थे। राष्ट्रपति कोविंद ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ एस पी बालासुब्रमण्यम के निधन से भारतीय संगीत ने एक बेहद सुरीली आवाज खो दी। उन्हें उनके प्रशंसक उन्हें गायकी का चांद कहते थे । उन्हें पद्म भूषण सहित कई राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था । '' उन्होंने कहा ‘‘ मेरी संवेदनाएं बालासुब्रमण्यम के परिवार, मित्र और प्रशंसकों के साथ हैं ।'' 

सांस्कृतिक दुनिया का नुकसान 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताते हुए कहा कि दशकों तक अपनी आवाज से लोगों को मंत्रमुग्ध कर देने वाली इस शख्सियत के दुनिया को अलविदा कहने से सांस्कृतिक दुनिया को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने ट्वीट कर अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘एस पी बालासुब्रमण्यम के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से हमारी सांस्कृतिक दुनिया को काफी नुकसान हुआ है। वह देश भर में मशहूर थे और उनकी मधुर आवाज और संगीत ने दशकों तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ है। ओम शांति।'' 

उनकी आवाज सदा जीवित रहेगी
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनकी आवाज सदा जीवित रहेगी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘एस पी बालासुब्रमण्यम के परिवार और मित्रों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। कई भाषाओं में अपने गीतों के माध्यम से उन्होंने करोड़ों लोगों के दिलों छुआ। उनकी आवाज सदा जीवित रहेगी।''

Advertisement
Back to Top