जेल में 'दरबार' लगाते दिखे राजद सुप्रीमो लालू यादव, फोटो वायरल होने पर बवाल

Lalu Yadav inside jail photo viral with jharkhand minister - Sakshi Samachar

रांची: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पर जेल नियमावली की धज्जियां उड़ाते हुए जेल में ही दरबार लगाने का आरोप लग रहा है। इस सिलसिले में एक फोटो भी वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर लालू को सरकार फेवर क्यों कर रही है, व जेल में बैठकर वे राजनीतिक दरबार कैसे लगा सकते हैं? फोटो में लालू प्रसाद यादव के साथ झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और कांग्रेस प्रवक्ता शमशेर आलम दिख रहे हैं। अब मंत्री बन्ना गुप्ता को भी जवाब देते नहीं सूझ रहा है। 

तस्वीर में आप देख सकते हैं कि किस तरह लालू प्रसाद फोन पर बात कर रहे हैं और उनके बगल में झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री और कांग्रेस प्रवक्ता बैठे हुए हैं। माहौल हल्का फुल्का लग रहा है। सूत्र बताते हैं कि लालू प्रसाद जेल के भीतर हैं, लेकिन झारखंड सरकार की कृपा दृष्टि उनपर बनी हुई है। लालू प्रसाद को जेल के भीतर ही वो तमाम सुविधाएं मिल रही हैं जो घर में मुहैया होती है। झारखंड बीजेपी के नेता अब इस बारे में खुल्लम खुल्ला आरोप भी लगाने लगे हैं। बता दें कि लालू प्रसाद फिलहाल रिम्स के प्राइवेट वार्ड में बतौर सजायाफ्ता कैदी अपना इलाज करा रहे हैं। लालू यादव 2017 से ही रिम्स में दाखिल हैं। जबकि इतने लंबे समय तक अस्पताल के वार्ड में किसी सजायाफ्ता को जगह मिलनी मुश्किल होती है। 

बीजेपी प्रवक्ता प्रतुल सहदेव के मुताबिक लालू यादव जेल नियमावली की धज्जियां उड़ा रहे हैं। सहदेव ने दावा किया कि लालू जब चाहें जेल के भीतर सियासी दरबार लगा लेते हैं। यहां तक कि झारखंड की सोरेन सरकार कई मामलों में जेल में बंद लालू प्रसाद से सलाह भी लेती है। बीजेपी प्रवक्ता ने इस बारे में औपचारिक शिकायत दर्ज कराने की बात कही। साथ ही इस बारे में केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की। 

लालू प्रसाद की जिस वायरल तस्वीर का हम हवाला दे रहे हैं, उसको लेकर झारखंड के गृह सचिव, मुख्य सचिव और जेल आईजी सहित कोई भी अधिकारी या नेता मुंह खोलने को तैयार नहीं है। झारखंड में जब से सत्ता परिवर्तन हुआ है और हेमंत सोरेन सरकार को राजद का समर्थन मिला, तभी से लालू प्रसाद की सुख सुविधाएं जेल में बढ़ गई है। इससे पहले बीजेपी की सरकार में सख्त जेल नियमावली के साथ लालू प्रसाद की कट रही थी। हालांकि मामला तूल पकड़ने पर लालू प्रसाद मुश्किल में पड़ सकते हैं और उन्हें किसी दूसरी जेल में शिफ्ट किया जा सकता है। 

Advertisement
Back to Top