जानिए कौन है ये महिला, जिससे जुड़ रहा मुख्यमंत्री विजयन का नाम

kerala cm P Vijayan office allegedly entangled in scandal - Sakshi Samachar

तस्करी मामले में केरल के मुख्यमंत्री का नाम 

आरोपी की पैरवी करने का CM ऑफिस पर आरोप

केरल बीजेपी ने मुख्यमंत्री पर लगाए गंभीर आरोप

तिरुवनंतपुरम: केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन पर गंभीर आरोप लगे हैं। उनकी करीबी स्वप्ना सुरेश के खिलाफ 30 किलो सोने की तस्करी का आरोप लगा है। जिसमें मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रभाव का इस्तेमाल करने की बात कही जा रही है। इस खबर के बाद केरल की सियासत में जैसे भूचाल ही आ गया है। 

आरोपों के मुताबिक स्वप्ना सुरेश ने ‘डिप्लोमेटिक इम्युनिटी’ का इस्तेमाल कर 30 किलो सोने की तस्करी को अंजाम दिया। जानकारी के अनुसार यूएई की वाणिज्य दूतावास में काम कर चुकी स्वप्ना सुरेश ने फर्जी कागजात के जरिए सोने की तस्करी की। इस बारे में स्वप्ना के साथ मुख्यमंत्री पी विजयन का वीडियो भी वायरल है। 

मुख्यमंत्री दफ्तर पर क्या है आरोप?

स्वप्ना सुरेश के कारनामों का पता चलते ही कस्टम विभाग ने उनकी अहम साझीदार को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय और आईटी सचिव ने कस्टम अधिकारियों पर स्वप्ना को रिहा करने का दबाव बनाया। बता दें कि फिलहाल आईटी विभाग मुख्यमंत्री पी विजयन के पास है और इसी विभाग के सचिव ने स्वप्ना के लिए फोन किया था। 

कौन है स्वप्ना सुरेश? 

स्वप्ना सुरेश के बारे में कई तरह की जानकारियां छन कर आ रही है। बताया जाता है कि यूएई की वाणिज्य दूतावास में वे काम कर चुकी हैं। फिलहाल आईटी विभाग के तहत केरल स्टेट आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (केएसआईटीआईएल) के स्पेस पार्क की ऑपरेशन मैनेजर हैं स्वप्ना। आईटी विभाग में स्वप्ना की बड़े ओहदे पर तैनाती को लेकर भी आरोप लग रहे हैं। 

कैसे तस्करी को दिया अंजाम? 

केरल में तिरुवनंतपुरम इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर एयर कार्गो के जरिए पहुंचे सामान में तीस किलो सोना बरामद किया गया। मामला चूंकि डिप्लोमैटिक हस्तियों से जुड़ा था लिहाजा कस्टम डिपार्टमेंट ने भी फूंक फूंककर कदम उठाया। 2 जुलाई का ये मामला चर्चा के चर्चा में आने में चार दिनों का वक्त लगा। 6 जुलाई को कस्टम अधिकारियों ने यूएई वाणिज्य दूतावास के पूर्व पीआर अधिकारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की। दरअसल स्वप्ना को पता था कि राजनयिक सामानों की जांच नहीं होती। लिहाजा बड़े ही शातिर अंदाज में स्वप्ना ने दूतावास के कुछ अधिकारियों के साथ मिलकर डिप्लोमेटिक चैनल का इस्तेमाल किया। जिसमें मुख्यमंत्री कार्यालय की संलिप्तता भी पाई गई है। 

दूतावास की कर्मचारी सरित को स्वप्ना का अहम सहयोगी बताया जा रहा है। आशंका जताई जा रही है कि दोनों ने इससे पहले भी कई बार सोने की तस्करी को अंजाम दिया होगा। केरल की विजयन सरकार पर प्रमुख विपक्षी बीजेपी इस मामले में आक्रामक है। केरल भाजपा के राज्य प्रभारी के सुरेंद्रन ने सीधे सीधे इस मामले में मुख्यमंत्री का हाथ होने का आरोप लगाया है। हालांकि इस बारे में सीएम ऑफिस से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है। 

Advertisement
Back to Top