सीमा पर आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुआ जवान, वायरल हुआ अंतिम व्हाट्सऐप चैट

Jalgaon Martyr Soldier Last Whatsapp Chat Viral  - Sakshi Samachar

जवान का अंतिम व्हाट्सऐप मैसेज वायरल

यश के पिता करते हैं किसानी

मराठा रेजिमेंट में तैनात थे यश

मुंबई :  26/11 मुंबई हमले (Mumbai Terrorist Attack) की 12वीं बर्सी पर जलगांव जिले ( Jalgaon District) की पिंपल गांव (Pimal Village) के रहने वाले यश देशमुख ( Yash Deshmukh) घाटी में हुए एक आतंकी हमले में शहीद हो गए हैं। हालांकि आतंकियों से मुठभेड़ के कुछ घंटे  पहले उनकी अपने दोस्त से बात हुई थी। अब जब वे इस दुनिया में नहीं है, तब उनकी वो आखिरी व्हाट्सऐप चैट ( Whatsapp Chat) वायरल हो रही है। उनकी यह चैट उनकी मातृ भाषा मराठी ( Marathi) में है। सोशल मीडिया पर उनकी आखिरी चैट वायरल होते ही जिसने भी इसे पढ़ा उसके आंखू में आंसू आ गए।

जवान का अंतिम व्हाट्सऐप मैसेज वायरल
दोस्त ने पूछा- कैसे हो भाई। जवान ने जवाब दिया ठीक ही हूं। लेकिन सैनिकों के बारे कौन क्या कह सकता है। आज रहेंगे कल रह भी सकते हैं या नहीं भी।  

यश के पिता करते हैं किसानी
यश के पिता गांव में किसानी करते हैं। उनके परिवार में उनकी दो बहने है जिनकी शादी हो चुकी है। यश का एक छोटा भाई भी है जो अभी स्कूल में ही पढ़ रहा है। यश को शुरू से ही  सेना में शामिल होने का शौक था और उन्होंने पिछले साल ही आर्मी ज्वाइन की थी। उसका सिलेक्शन कर्नाटक के बेलगाम में हुआ था। यश मराठा रेजिमेंट में तैनात थे। सेना के फिटनेस मानकों को पूरा करने के लिए उसने काफी पसीना बहाया था।।

कश्मीर में नहीं थम रहे आतंकी हमले
बता दें कि घाटी में लगातार आतंकी हमले में इजाफा देखा गया है।सेना द्वारा बताया गया है कि आतंकी मारूति कार से आए थे और उन्होंने अचानक सेना के जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें सेना के दो जवान शहीद हो गए। यह कायराना हमला जैश के आतंकियों द्वारा किये जाने की पुष्टी हुई है। आतंकी हमला जम्मू और कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों से बमुश्किल 48 घंटे पहले हुआ था। इससे पहले 19 नवंबर को जम्मू में नगरोटा के पास मुठभेड़ के दौरान जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक ट्रक में यात्रा कर रहे चार जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी मारे गए थे।

Advertisement
Back to Top