Lock Down में रोजेदारों के लिए खुशखबरी, ICI फेसबुक के जरिए सिखाया जाएगा ईद की नमाज का तरीका

 ICI Will Teach on Facebook How to Do Namaz on Eid - Sakshi Samachar

फेसबुक पेज के जरिये इंतजाम किया

20 मई से रोजाना अपने वेब पेज पर ईद की नमाज पढ़ने का तरीका बतायेगा

लखनऊ : रमजान के बाद अब ईद भी लॉक डाउन में ही होने की प्रबल सम्भावना के बीच इस्लामिक सेंटर आफ इंडिया (आईसीआई) फेसबुक के जरिये लोगों को ईद की नमाज पढ़ने में मदद की तैयारी कर रहा है। आईसीआई ने रमजान के दौरान पढ़ी जाने वाली विशेष नमाज यानी तरावीह में कुरान शरीफ सुनाने के लिये अपने आधिकारिक फेसबुक पेज के जरिये इंतजाम किया था। अब वह ईद के करीब पांच दिन पहले से ही अपने पेज पर लोगों को ईद की नमाज के तरीके और खुत्बा (प्रवचन) के बारे में बताएगा।

आईसीआई के अध्यक्ष शहर काजी मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने बुधवार को बताया कि रमजान के बाद अब ईद भी शायद लॉक डाउन में ही गुजरे। ऐसे में लोगों को ईद की नमाज भी घर में ही अदा करनी होगी। ईद की नमाज का तरीका बाकी नमाजों से अलग होता है। चूंकि यह नमाज सिर्फ ईद और बकरीद में ही पढ़ी जाती है, इसलिये अक्सर लोगों को इसे अदा करने का मुकम्मल तरीका याद नहीं रहता। उन्होंने बताया कि ईद आगामी 25 मई को होने की सम्भावना है।

इस्लामिक सेंटर आफ इंडिया अब अगली 20 मई से रोजाना अपने वेब पेज पर ईद की नमाज पढ़ने का तरीका बतायेगा, ताकि लोगों को याद हो जाए। इसमें यह बताया जाएगा कि घर पर ईद की नमाज कैसे अदा करें। यह सिलसिला ईद की नमाज तक चलेगा। इसके लिये ज्यादा से ज्यादा संख्या में मुस्लिम लोगों को वेबपेज का लिंक भेजा जाएगा। मौलाना रशीद ने कहा कि इस नमाज से पहले और बाद में पढ़ा जाने वाला खुत्बा सुनना जरूरी होता है।

चूंकि अक्सर लोगों को खुत्बे के बारे में जानकारी नहीं होती है, इसलिये इसे भी वेब पेज के जरिये बताया जाएगा। ताकि आपकी नमाज भी हो जाए और खुत्बा भी। इससे व्यक्ति को इस बात की संतुष्टि भी हो जाएगी कि उसने ईद की नमाज अदा कर ली है। उन्होंने कहा कि ईद की नमाज से पहले उर्दू में पढ़ा जाने वाला खुत्बा आनलाइन दिया जाएगा। मगर नमाज के बाद अरबी में पढ़ा जाने वाला खुत्बा आपको खुद देना होगा। उसका सबसे आसान तरीका यह है कि आप दूसरे खुत्बे में दुरूद शरीफ और सूरे अस्र पढ़ लें। इससे खुत्बा पूरा माना जाएगा। ऐसी आपात स्थिति में ईद की नमाज अदा करने और खुत्बा पढ़ने—सुनने का यही रास्ता है।

इसे भी पढ़ें : 

जानिए किस देश से किन किन राज्यों में आएंगी स्वदेश वापसी की उड़ानें, वंदे भारत मिशन का नया प्लान

मौलाना रशीद ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण घोषित लॉक डाउन का सभी मुसलमानों को हर हाल में पालन करना चाहिये। ईद की नमाज के मामले में भी इसी नियम पर चलना होगा। इसी वजह से आईसीआई ने लॉकडाउन के बीच ईद की नमाज घर में ही अदा करने के सिलसिले में पिछले दिनों एक फतवा भी जारी किया था। गौरतलब है कि लॉकडाउन के बीच मस्जिदें बंद होने के कारण इस बार रमजान में पढ़ी जाने वाली तरावीह की नमाज भी घरों में ही अदा की गयी। इस नमाज में कम से कम एक कुरान शरीफ सुनना जरूरी है। आईसीआई ने इसके लिये अपने वेब पेज पर लोगों को कुरान शरीफ सुनाया था।

Advertisement
Back to Top