कोरोना वायरस के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश, पढ़ें गाइडलाइंस की खास बातें

Home Ministry released guidelines in view of Coronavirus - Sakshi Samachar

कंटेनमेंट जोन में सिर्फ जरूरी गतिविधियों की इजाजत

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगातार जारी रहेगी रोक 

राज्यों पर सोशल डिस्टेंसिंग पालन कराने की जिम्मेदारी

नई दिल्ली : देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों (Corona Cases) को लेकर गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने बुधवार को नए दिशानिर्देश (Guidelince) जारी किए हैं। मंत्रालय द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस में कंटेनमेंट जोन (Containment Zones) को लेकर खास एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। संक्रमण को रोकने के लिए मंत्रालय द्वारा जारी किए गए निर्देश 1 दिसंबर से 31 दिसंबर 2020 तक लागू रहेंगे। 

गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित को निर्देशित किया है कि मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइंस का सख्ती का पालन किया जाए। कोरोनो को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस के मुताबिक कंटेनमेंट जोंस में सिर्फ आवश्यक गतिविधियों के लिए ही छूट दी जाएगी। इसके साथ ही राज्यों को यह भी निर्देश दिया गया है कि कोरोना मामलों में आई गिरावट का बरकरार रखें और संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाएं। 

गाइडलाइंस की बड़ी बातें
►अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक जारी रहेगी और सिनेमा हॉल में फिलहाल 50 फ़ीसदी लोगों को ही अनुमति होगी। स्विमिंग पूल में सिर्फ खिलाड़ियों को अनुमति होगी।

►बिजनेस/ एग्जिबिशन हॉल में सिर्फ बिजनेस से जुड़े लोगों को ही एंट्री मिलेगी। किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में 200 से ज्यादा लोगों के भाग लेने की अनुमति नहीं होगी।

►कंटेनमेंट जोन में सिर्फ जरूरी गतिविधियों की ही इजाजत रहेगी। जिला पुलिस और नगर निगम प्रशासन नियमों का पालन कराने के लिए जिम्मेदार होगा। तय किए गए नियम सभी राज्यों केंद्रशासित प्रदेशों में सख्ती से लागू किए जाएंगे।

►राज्य और केंद्रशासित प्रदेश कोविड-19 की स्थिति के आकलन के आधार पर केवल कंटेनमेंट जोंस में रात्रिकालीन कर्फ्यू जैसी स्थानीय पाबंदियां लगा सकते हैं। कंटेनमेंट जोंस के बाहर किसी भी प्रकार का स्थानीय लॉकडाउन लागू करने के पहले राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र से अनुमति लेनी होगी।

►ऑफिसों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने की जिम्मेदारी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की होगी। ऐसे शहर जहां पर पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से ज्यादा है वहां ऑफिसों की टाइम अलग-अलग करने और अन्य उपायों पर विचार करने के निर्देश दिए गए हैं, जिससे कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके।

►राज्य के भीतर या एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने में कोई पाबंदी नहीं है। बुजुर्गों, पहले से दूसरी बीमारी से पीड़ित लोग, गर्भवती महिलाओं और 10 साल के कम उम्र के बच्चों को घर में रहने की सलाह दी गई है।

►संक्रमित पाए गए व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार की जाएगी और उनकी ट्रैकिंग, पहचान कर उन्हें 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा।

►कोरोना संक्रमित व्यक्ति को जल्द से जल्द तय नियम के आधार पर होम आइसोलेट या फिर मेडिकल फेसिलिटी में आइसोलेट किया जाएगा।

►जरूरत पड़ने पर घर-घर निगरानी करने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा तय प्रोटोकॉल के आधार पर ही टेस्टिंग की जाएगी।

►सभी जगहों पर कोरोना वायरस के अनुरूप व्यवहार जैसे मास्क का इस्तेमाल, सोशल डिस्टेंसिंग, हाथ धोना करना जरूरी है।

इसे भी पढ़ें : पंजाब में 1 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू का ऐलान,नियमों तोड़ने वालों से वसूला जाएगा दोगुना जुर्माना

Advertisement
Back to Top