रेप के दोषी राम रहीम को मिली थी सीक्रेट पैरोल, पूरे हरियाणा में 4 लोगों को ही थी खबर

Gurmeet Ram Rahim Was Granted A day’s Parole On October 24 By Haryana govt - Sakshi Samachar

चंडीगढ़ : रेप केस में सजा काट रहा डेरा प्रमुख, राम रहीम एक बार फिर चर्चा में है। दरअसल उसे एक दिन की पेरोल दी गई थी। खबरों की मानें तो राम रहीम को दी गई  ये पेरोल काफी सीक्रेट थी। पूरे हरियाणा में इस बात की जानकारी केवल 4 लोगों के पास ही थी। इसमें सीएम मनोहर लाल खट्टर शामिल हैं। बता दें कि गुरमीत राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहा है।

24 अक्टूबर को मिली थी पैरोल
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक गुरमीत राम रहीम को ये पैरोल 24 अक्टूबर को मिली थी। बताया जा रहा है कि जब उसे जेल से बाहर निकाला गया तो उस दौरान  हरियाणा पुलिस की तीन कंपनियां तैनात की गई थी। भारी सुरक्षा में उसे काफी  गोपनीय तरीके से जेल से बाहर निकालकर गुरुग्राम में लाया गया। बताया जा रहा है पुलिस की एक कंपनी में  80-100 जवान थे।

मां से मिलने हॉस्पिटल पहुंचा था गुरमीत राम रहीम
राम रहीम ने  मेदांता अस्पताल में अपनी मां से मुलाकात की। दरअसल राम रहीम की मां नसीब कौर का मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा है। वे कई दिनों से बीमार चल रही है। सूत्रों ने दावा किया कि राम रहीम की पत्नी हरजीत कौर ने इस आधार पर अपनी पैरोल मांगी थी कि राम रहीम की 85 वर्षीय मां नसीब कौर दिल की बीमारी से पीड़ित है। इस वजह से उसे ये पेरोल दी गई थी। 90 साल की नसीब कौर कई दिनों से मेदांता अस्पताल में भर्ती है।


राम रहीम अपनी मां से मेदांता हॉस्पिटल में मिलने पहुंचा था।

सीएम के अलावा इन 4 लोगों को ही थी खबर
अपनी मां से मिलने के लिए गुरमीत राम रहीम कई बार पैरोल की याचिका अदालत में लगा चुका था। लेकिन पहले हरियाणा सरकार इसके लिए इजाजत नहीं दे रही थी। आखिरकार 24 अक्टूबर के लिए गुरमीत राम रहीम की याचिका स्वीकार हो गई। जिस वक्त से उसे पुलिस वैन में ले जाया जा रहा था उस दौरान पूरे वैन में पर्दे लगे हुए थे। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को जेल से और पर्दे के साथ पुलिस वाहन में वापस ले जाया गया। राम रहीम की पैरोल के बारे में किसी को भी जानकारी नहीं दी गई थी। इस बारे में  केवल मुख्यमंत्री ही हरियाणा सरकार के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ही इस बारे में जानते थे।

कौन है गुरमीत राम रहीम सिंह ?
एक्टर और गुरु राम रहीम का जन्म राजस्थान के गंगानगर के पास गुरुसर मोडिया नाम के गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम मघर सिंह और मां का नाम नसीब कौर है। उनकी तीन बेटियां और एक बेटा है। इनमें से एक बेटी को राम रहीम ने गोद लिया है। सन् 1990 में उन्होंने एक सतसंग के दौरान सन्यास लिया था।

साध्वी ने लिखी थी गुमनाम चिट्ठी
2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का यौन शोषण होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ था। 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया था। उसे कुल 20 साल की सजा सुनाई गई है।

देश ही नहीं विदेशों तक फैला है बाबा का साम्राज्य
- बाबा राम रहीम के पास हरियाणा के सिरसा में करीब 700 एकड़ की एग्रीकल्चर लैंड है। 
- राम रहीम के पास तीन हॉस्पिटल के अलावा एक आईबैंक भी है।
- गैस स्टेशन, मार्केट कॉम्प्लेक्स बाबा राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा की ब्रांच पूरे देश में फैली हुई हैं।
- यह नहीं दुनियाभर में उसके करीब 250 आश्रम भी मौजूद हैं।
- राम रहीम के जेल जाने के बाद  गुरमीत राम रहीम की संपत्ति कोउसका बेटा जसमीत सिंह इंसान उसके कारोबार को संभाल रहा हैं। हालांकि राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद इनमें से कुछ संपत्ति को सरकार ने सील भी किया था। 

 

Advertisement
Back to Top