ईडी ने राणा कपूर के खिलाफ धनशोधन मामले में आरोप-पत्र दाखिल किया, गिरफ्तारी के हो चुके हैं दो माह

enforcement directorate files charge sheet against Yes bank founder  Rana kapoor - Sakshi Samachar

राणा कपूर के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

ईडी ने गिरफ्तारी के दो महीने बाद दाखिल किया आरोप पत्र

रिश्वत के बदले कुछ कंपनियों का मंजूर किया था ऋण

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को एक विशेष अदालत के समक्ष यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किए। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि गिरफ्तारी के लगभग दो महीने बाद कपूर के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया गया है।

कपूर को ईडी ने आठ मार्च को गिरफ्तार किया था और उस पर धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया गया था। कपूर पर आरोप है कि उसने रिश्वत के बदले में कुछ कंपनियों के ऋण मंजूर किए हैं। केंद्रीय जांच एजेंसी कपूर, उसकी पत्नी और तीन बेटियों द्वारा कथित रूप नियंत्रित कंपनी द्वारा घोटाले से प्रभावित दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) से जुड़ी एक इकाई से 600 करोड़ रुपये प्राप्त करने की जांच कर रही है।

राणा कपूर, उसकी पत्नी और तीन बेटियों पर कथित तौर पर कुछ कॉर्पोरेट संस्थाओं को बड़े पैमाने पर ऋण स्वीकृत करने के लिए उनके स्वामित्व वाली कंपनियों के माध्यम से बड़ी मात्रा में रिश्वत प्राप्त करने का आरोप है।डीएचएफएल के संस्थापक कपिल वधावन और धीरज वधावन को भी पिछले महीने महाबलेश्वर से इसी मामले के सिलसिले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तार किया था, जो अभी हिरासत में हैं।

इसे भी पढ़ें :

दिल्ली और यूपी के बाद अब मध्य प्रदेश में शराब पर 'कोरोना टैक्स' की तैयारी, शराब की बड़ी दुकानों पर लगा रहा ताला

आपको बतादें यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर अपना ठिकाना भारत से बाहर किसी देश में ले जा पाते, इससे पहले ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उन्हें बीते 11 मार्च को हिरासत में ले लिया था। जिसके चलते दिल्ली में मौजूद उनकी तीन संपत्तियों को बेचने की योजना सफल नहीं हो पाई। ये संपत्तियां 1,000 करोड़ रुपये से अधिक की हैं।

Advertisement
Back to Top