लॉकडाउन : 1925 के बाद पहली बार पटना के गांधी मैदान में नहीं होगी ईद की नमाज !

Eid Namaj  Will Not Be Held In Patna Gandhi Maidan - Sakshi Samachar

ईद की नमाज को लेकर इमारत ए शरिया ने की अपील

पटना के गांधी मैदान में नहीं होगी ईद की नमाज

पटना : पाक महीना रमजान के 28 दिन हो गए हैं। इस वक्त पहले जहां बाजारों में रौनक हुआ करता था आज सन्नाटा है। लोग इस समया  ईद की खरीददारी में व्यस्त रहता था, वहीं इस साल सब कुछ फीका पड़ा है। कोरोना को लेकर चल रहे लॉकडाउन की वजह से शहर के गिने चुने दुकान ही खुल रहे हैं। लेकिन, घरों में ईद की तैयारी चल रही है।

इस वक्त सबके दिल में एक ही सवाल है कि क्या इस साल ईद के मौके में पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में ईद की नमाज होगी या नहीं। ईद के मौके रक हर साल यहां 40-45 हज़ार से ज्यादा नमाज़ी एक साथ ईद की नमाज़ पढ़ते थे जहां मुख्यमंत्री भी शामिल होते थे। पर मौजूदा हालात के चलते अभी सोशल सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है। ऐसी स्थिति में पहली बार ईद की नमाज नहीं होगी। 

ईद नमाज कमिटी ने की अपील

ईद नमाज कमिटी गांधी मैदान के सदर महमूद आलम और सचिव मौलाना मो. मिस्बहुद्दीन ने लोगों से अपील की है कि वे ईद-उल-फित्र की नमाज अदा करने के लिए गांधी मैदान न आएं। उन्होंने सबसे लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की बात कही है। लोगों से कहा गया कि वे घर में कोरोना वायरस से मुक्ति के लिए दुआ करेंगे।

आप को बता दें कि राजधानी पटना में हर साल ईद की नमाज गांधी मैदान में अदा की जाती थी जिससे बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंचते थे, लेकिन इस साल 1925 के बाद पहली बार ईद की नमाज गांधी मैदान में नहीं अदा की जाएगी। ऐसे में लोगों को यह भी कहा गया है कि इस बार वह घरों में ही रहकर ईद की नमाज अदा करें। 

इमारत ए शरिया ने की अपील

इस साल 25 को ईद होगी। क्योंकि शनिवार को सऊदी अरब में चांद नहीं देखा गया था। इसलिए वहां 24 मई यानी रविवार को ईद मनाई जाएगी। इमारत-ए- शरिया फुलवारीशरीफ के अमीर-ए- शरियत हजरत मौलाना सैयद वली रहमानी ने ऐलान किया है कि जिन मस्जिदों व ईदगाहों में ईद की नमाज होते आ रही है, वहां चंद लोग ही ईद की नमाज अदा करें। बाकी लोग अपने-अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा करें।

इसे भी पढ़ें : 

Ramadan 2020 : जानें शब-ए-कद्र की रात क्यों की जाती है इबादत

रमजान के महीने में सलमान खान ने की इन 2500 परिवारों की खास मदद, कर रहे हैं अपील

Advertisement
Back to Top