तेज आंधी और बारिश के बाद दिल्ली-एनसीआर ने महसूस किए 3.5 तीव्रता वाले भूकंप के झटके 

Delhi-NCR felt earthquake of 3.5 magnitude after heavy storm and rain - Sakshi Samachar

दोपहर करीब 1.45 बजे महसूस हुए भूकंप के झटके

आंधी-तूफान के बाद भूकंप के झटकों से हिली दिल्ली

नई दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली में तेज आंधी-तूफान के बाद रविवार दोपहर को भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 3.5 बताई जा रही है।दिल्ली में दोपहर में करीब 1.45 पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। आंधी-तूफान के बाद आए भूकंप के झटकों से दिल्ली हिल गई। भूकंप की वजह से लोगों में डर का माहौल देखा गया।

अचानक बदल गया मौसम का मिजाज

दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई हिस्सों में मौसम ने अचानक करवट ले ली। राजधानी दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में कई इलाकों में तेज आंधी-तूफान आया। धूल-भरी तेज हवाओं से चारों और धुंध छा गया। सड़कों से लेकर आसमान तक धूल ही धूल दिखाई देने लगी। इसके बाद भूकंप के झटकों ने दिल्ली वालों को परेशान कर दिया है।

हालांकि एक तरफ जहां धूल भरी आंधी और तूफान से सड़कों पर अंधेरा छा गया तो वहीं दूसरी ओर कुछ जगहों पर बारिश होने से लोगों को पिछले कई दिनों से जारी उमस भरी गर्मी से राहत भी मिली है। गौरतलब है कि मौसम विभाग ने 10 मई के बाद मौसम बदलने की संभावना जताई थी।

महीने में तीसरी बार आया भूकंप
कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच राजधानी दिल्ली में फिर एक बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। महीनभर में यह तीसरी बार है। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.5 मापी गई। इसका सेंटर दिल्ली के पास गाजियाबाद बताया जा रहा है। इससे पहले 12 और 13 अप्रैल को भी दिल्ली में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

24 घंटे में दो बार आया था भूकंप
इससे पहले दिल्ली में 12 और 13 अप्रैल को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। 12 अप्रैल को दिल्ली एनसीआर में शाम 5:50 के करीब भूकंप के झटके महसूस किए गए। कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से उस दिन भी ज्यादातर लोग अपने घरों में ही थे ऐसे में सबने झटके महसूस किए। तब भूकंप की तीव्रता 3.5 बताई गई थी। तब केंद्र दिल्ली के ही पूर्वी हिस्से में था।

गुजरात में 9 मई को महसूस किए गए झटके

बता दें कि इससे पहले, 9 मई को गुजरात के कुछ इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.0 मापी गई थी। झटके जूनागढ़, पोरबंदर और गीर सोमनाथ में महसूस किए गए। हालांकि किसी भी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है।

AUDIO : अयोध्या का पुराना नाम क्या था और उसे किसने बसाया था ?

यह भी पढें : अब सिर्फ छाती का X-Ray कराएं और जानें, कहीं आप कोरोना संक्रमित तो नहीं!​

यह भी पढें : प्रवासी बिहारियों ने बढ़ाई नीतीश सरकार की मुश्किलें, 18 नए केस के साथ 629 हुई कोरोना मरीजों की संख्या​

Advertisement
Back to Top