अम्फान प्रभावित बंगाल को 1000 करोड़ की तत्काल मदद, PM बोले- CM ने किया अच्छा काम

Cyclone Amphan News and Update : Pm Modi Announce One Thousand Crore Relief For West Bengal  - Sakshi Samachar

बशीरहाट : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। पीएम ने जहां बंगाल को एक हजार करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया वहीं ओडिशा को 500 करोड़ रुपए के मदद का ऐलान किया है। वहीं दूसरी ओर सोनिया गांधी के नेतृत्व में हुई विपक्ष की बैठक में अम्फान को लेकर भी चर्चा हुई। इस चर्चा में विपक्षी दलों  ने केंद्र सरकार से अम्फान तूफान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है। 

पीएम ने बंगाल को तत्काल हजार करोड़ की मदद का किया ऐलान

पीएम ने बंगाल में हवाई राज्य के लिए 1,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की। मोदी ने कहा कि देश इस संकट की घड़ी में बंगाल के साथ खड़ा है।मोदी ने कहा, "मैं पश्चिम बंगाल के अपने भाइयों और बहनों को विश्वास दिलाता हूं कि पूरा देश इस कठिन समय में आपके साथ खड़ा है।"

मृतकों के परिवार वालों को दिए जाएंगे दो लाख रुपए

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि मृतक व्यक्तियों के परिजनों को दो लाख रुपये दिए जाएंगे, जबकि जिन लोगों को गंभीर चोटें आई हैं, उनमें से प्रत्येक को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।गंभीर चक्रवात अम्फान ने बुधवार दोपहर को पश्चिम बंगाल में कहर बरपाना शुरू किया था। इस दौरान राज्य के विभिन्न हिस्सों में 155 कि. मी. प्रति घंटे से लेकर 185 कि. मी. प्रति घंटे तक की तेज हवा के साथ भारी बारिश हुई, जिससे प्रदेश में काफी नुकसान हुआ। 

प्रधानमंत्री मोदी ने चक्रवात प्रभावित ओडिशा के लिए 500 करोड़ रुपये की अग्रिम राहत की घोषणा 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात से प्रभावित ओडिशा के लिए 500 करोड़ रुपये की अग्रिम आर्थिक सहायता की शुक्रवार को घोषणा की। मोदी ने चक्रवात ‘अम्फान' से प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण और ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ समीक्षा बैठक के बाद यह घोषणा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद दीर्घकालिक पुनर्वास उपायों के लिए आगे की सहायता दी जाएगी।

इन नेताओं ने करीब डेढ़ घंटे तक जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, जाजपुर और मयूरभंज जिलों का हवाई मुआयना किया। यहां बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा परिसर में हुई समीक्षा बैठक में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप सारंगी भी उपस्थित थे। मोदी ने कहा कि ओडिशा सरकार ने अग्रिम तैयारी कर जिंदगियां बचाईं। इस चक्रवात ने पश्चिम बंगाल की तरफ बढ़ते हुए कृषि क्षेत्र के अलावा घरों, बिजली एवं अवसंचरना को नुकसान पहुंचाया है। जिंदगियां बचाने के लिए ओडिशा के लोगों, प्रशासन और मुख्यमंत्री की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह आपदा राज्य के समक्ष गंभीर चुनौती लेकर आई है क्योंकि यह ऐसे समय में आई है जब हर कोई कोविड-19 के खिलाफ भयानक जंग में उलझा हुआ है।

अम्फान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग
विपक्षी दलों की बैठक में ओडिशा और पश्चिम बंगाल में आए अम्फान तूफान का भी जिक्र हुआ। विपक्ष ने केन्द्र सरकार से चक्रवात ‘अम्फान’ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है। 22 विपक्षी दल चक्रवात अम्फान के मद्देनजर नागरिकों को तत्काल मदद प्रदान करने के लिए केन्द्र से आह्वान करेंगे। बता दें कि इस तूफान की वजह से जहां ओडिशा में बिजली और टेलिकॉम को भारी नुकसान हुआ है, वहीं पश्चिम बंगाल में इसने काफी तबाही मचाई है। पश्चिम बंगाल में अम्फान की वजह से करीब 72 लोगों की मौत हो गई है।

अम्फान से गई 80 लोगों की जान
सूत्रों के अनुसार, चक्रवात के कारण कम से कम 80 लोगों की जान गई है। मोदी ने कहा कि अम्फान से हुए नुकसान का विस्तृत सर्वेक्षण करने के लिए जल्द ही एक केंद्रीय टीम राज्य में भेजी जाएगी। उन्होंने कहा कि पुनर्वास और पुनर्निर्माण से जुड़े सभी पहलुओं पर ध्यान दिया जाएगा। मोदी ने कहा, "हम सभी चाहते हैं कि पश्चिम बंगाल आगे बढ़े।"प्रधानमंत्री जब गंभीर चक्रवाती तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बंगाल में उतरे तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के अलावा वरिष्ठ भाजपा नेतृत्व उनकी अगवानी करने पहुंचे। इसके बाद मोदी और बनर्जी ने अम्फान से प्रभावित क्षेत्रों का एक हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने उन क्षेत्रों के ऊपर से उड़ान भरी, जो लगातार बारिश होने के कारण पानी में डूब गए हैं। 
 

Advertisement
Back to Top