गंगाराम अस्पताल के 108 स्टाफ क्वारंटीन, कोरोना मरीजों से हुआ था संपर्क

 COVID19: 108 staffs of Sir GangaRam Hospital in Quarentine - Sakshi Samachar

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2900 के पार

इस खतरनाक संक्रमण से अब तक 77 की मौत

आगरा में 25 नए कोरोना पॉजिटिव केस की पुष्टि

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से देश में संकट बढ़ता ही जा रहा है। दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के 108 स्वास्थ्य कर्मचारियों को क्वारंटाइन किया गया है। इनमें 23 लोग अस्पताल में भर्ती हैं और 85 अपने घरों पर आइसोलेशन में रह रहे हैं। इनमें सीनियर डॉक्टर, नर्स और मेडिकल स्टाफ शामिल हैं। अस्पताल में भर्ती दो कोरोना संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद यह फैसला लिया गया है। अब दोनों मरीजों को आरएमएल अस्पताल में भेज दिया गया है।

इन 100 लोगों में से कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से अस्पताल प्रशासन ने यह फैसला लिया है। बता दें कि यहां पर दो ऐसे लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जो इस अस्पताल में दूसरी बीमारियों का इलाज कराने आए थे। पहले इन मरीजों में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं पाए गए थे, लेकिन जब इनका टेस्ट किया गया तो ये कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

दिल्ली में एक और कोरोना पीड़ित की मौत, डॉक्टर को भी हुआ संक्रमण

वहीं, राजधानी दिल्ली के महाराज अग्रसेन अस्पताल में भी शुक्रवार देर रात कोरोना वायरस संक्रमण से एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसके साथ ही दिल्ली में अब तक मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 7 हो चुकी हैं। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि मरीज के संपर्क में आने वाले सभी डॉक्टरों, नर्स और अन्य स्टाफ को भी आइसोलेशन में रखा गया है। बताया जा रहा है कि अस्पताल का एक डॉक्टर भी कोरोना वायरस से संक्रमित है, जो इसके संपर्क में था। 

यह भी पढ़ें : क्या शाहीन बाग में सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी भी हो चुके हैं कोरोना संक्रमित!​

पहले भी 8 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए

बता दें कि देश में अब तक 2900 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जबकि 77 लोगों की मौत हुई है। ये सभी 2 कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आ गए थे। इधर, राजस्थान, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में कोरोना से आज एक-एक मौत हुई है। इससे पहले शनिवार को भी दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों के 8 डॉक्टर कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद अब दो नर्सिंग अधिकारी भी जांच के दौरान कोरोना वायरस से ग्रस्त मिले हैं। दोनों नर्सिंग अधिकारी दिल्ली सरकार के एक संस्थान में कार्यरत हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "स्वास्थ्य विभाग की टीम अब इन दोनों अधिकारियों के परिजनों एवं इनके संपर्क में आए अन्य लोगों की जांच कर रही है।"

दो नर्सिंग ऑफिसर को कोरोना की पुष्टि

कोरोना वायरस की चपेट में आए दोनों नर्सिंग अधिकारी दिल्ली सरकार के दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में कार्यरत हैं। दो दिन पहले ही इसी अस्पताल की एक डॉक्टर को जांच के दौरान कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया था। दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में कार्यरत डॉक्टर के कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद अस्पताल को बंद करना पड़ा था। इस दौरान पूरे अस्पताल को सैनिटाइज भी किया गया। पॉजिटिव पाई गई डॉक्टर के संपर्क में अस्पताल के 19 लोग आए थे। इन सभी का टेस्ट कराया। टेस्ट के उपरांत इनमें से दो नर्सिंग ऑफिसर को कोरोना की पुष्टि हुई है। अब इन नर्सिंग ऑफिसर्स के संपर्क में आए लोगों की सूची बनाई जा रही है और जांच की जा रही है।

नौ महीने की गर्भवती डॉक्टर पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव

इससे पहले दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के फिजियोलॉजी विभाग में रेजिडेंट डॉक्टर और उनकी नौ महीने की गर्भवती डॉक्टर पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। डॉक्टर की गर्भवती पत्नी खुद भी एम्स की इमरजेंसी में तैनात एक डॉक्टर है। एम्स में कार्यरत महिला डॉक्टर व उनके पति दोनों को ही अब आइसोलेशन में रखा गया है। यहां विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा उनका उपचार किया जा रहा है। 9 माह की गर्भवती डॉक्टर की डिलिवरी एम्स अस्पताल में ही होगी। एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, "कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए डॉक्टर को आगे की जांच और कई अन्य टेस्ट के लिए एक निजी वार्ड में भर्ती कराया गया है।"

यह भी पढ़ें : कोरोना संक्रमण का यह दौर बना, नर्सों की जिंदगी का सबसे मुश्किल दौर​

सफदरजंग अस्पताल के दो रेजिडेंट डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित

सफदरजंग अस्पताल के दो रेजिडेंट डॉक्टर भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। संक्रमित पाए गए दोनों डॉक्टरों में एक पुरुष डॉक्टर है, जो कोरोना यूनिट में तैनात है और एक महिला डॉक्टर है जो पीजी की तीसरी साल की बायोकेमिस्ट्री विभाग की छात्रा है। अधिकारियों के अनुसार उसने विदेश की यात्रा की है। दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान के एक डॉक्टर के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद संस्थान को सैनेटाइजेशन के लिए एक दिन के लिए बंद कर दिया गया था। कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई डॉक्टर इसी संस्थान में काम करती है। इसके अलावा उत्तर पूर्वी दिल्ली स्थित दो मोहल्ला क्लीनिक के दो डॉक्टर भी कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं।

मरकज ने बढ़ाया दिल्ली का ग्राफ

पूरी दुनिया में कहर मचाने वाले खतरनाक कोरोना वायरस का प्रकोप भारत में लगातार बढ़ता जा रहा है। दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात मामले से देश में कोरोना वायरस के मामलों में बड़ा इजाफा देखने को मिला है और शनिवार को यह आंकड़ा 2900 पार कर गया। वहीं, इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से अब तक देशभर में जहां 77 लोग जान गंवा चुके हैं औरमॉ 183 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 

यह भी पढ़ें : 'कोरोना से जंग' में जीत का डिगने न दें आत्मविश्वास, क्योंकि सेना है अब आपके साथ

Advertisement
Back to Top