Covid-19 :कोरोना मृतक को कब्र भी नहीं हो पाई नसीब, जलाई गई लाश

Covid-19 Victims Dead Bodies Are Not Burying Graveyards  - Sakshi Samachar

कोरोना मृतकों को कब्र में भी नहीं हो पा रही नसीब

न्यासियों ने दफनाने से किया इंकार

मुंबई :  महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की वजह से मृत 65 साल के व्यक्ति के परिजनों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि उपनगर मलाड में कब्रिस्तान के न्यासियों द्वारा शव दफनाने से मना करने के बाद उसे जलाना पड़ा।  कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से मृत 65 वर्षीय एक मुस्लिम व्यक्ति के परिजनों ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि उपनगर मलाड में कब्रिस्तान के न्यासियों द्वारा शव दफनाने से मना करने के बाद उसे जलाना पड़ा। 

मृतक मालवाणी के कलेक्टर परिसर में रहता था और जोगेश्वरी स्थित बीएमसी के अस्पताल में बुधवार तड़के उसकी मौत हुई थी।  मृतक के परिवार के सदस्य ने आरोप लगाया कि शव को मलाड के मालवाणी कब्रिस्तान ले जाया गया लेकिन न्यासियों ने यह कह कर शव को दफनाने से इनकार कर दिया कि मृतक कोरोना वायरस से संक्रमित था। 

इसे भी पढ़ें
महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव पाया गया मौलवी, क्वारंटाइन में पहुंचे 53 लोग

 परिवार के सदस्य ने बताया कि स्थानीय पुलिस और एक स्थानीय नेता ने हस्तक्षेप की कोशिश की और न्यासियों से शव दफनाने की अनुमति देने का आग्रह किया लेकिन वे नहीं माने। उन्होंने बताया कि इसके बाद कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने हस्तक्षेप किया और नजदीक स्थित शमशान भूमि में शव को जलाने का अनुरोध किया। परिवार की सहमति से सुबह 10 बजे शव को जलाया गया।
 

Advertisement
Back to Top