दिल्ली के शकूर बस्ती में लगी कोविड-19 संक्रमितों वाली ट्रेन, पृथकवास के तौर पर हो रहा है इस्तेमाल

Covid-19 infected train is in Shakur Basti, Delhi, It is being used as an isolation - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : तकरीबन दो महीने तक बेकार रहने के बाद 160 बिस्तरों वाले रेलवे के दस डिब्बे कोविड-19 देख-रेख केंद्र के रूप में दिल्ली में तैनात किए गए हैं। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। इन डिब्बों को यहां शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन के डिपो में रखा गया है।

10 डिब्बे, 160 बिस्तर

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि इसमें वातानुकूलन रहित 160 बिस्तरों वाले दस डिब्बों के अतिरिक्त कोविड-19 देख-रेख केंद्र में स्वास्थ्य कर्मियों और डॉक्टरों के लिए तीन वातानुकूलित डिब्बे होंगे।

शकूर बस्ती में रखी गई है यह ट्रेन

गौरतलब है कि हल्के या बहुत हल्के लक्षण वाले कोविड-19 के संदिग्ध या पुष्ट मरीजों के लिए इन पृथक-वास डिब्बों को तैयार किया गया था। इससे पहले ही इन कोविड-19 देखरेख केंद्र के रूप में इस्तेमाल किए जा सकने वाले डिब्बों की तैनाती के लिए सरकार ने 215 रेलवे स्टेशनों को चिह्नित कर लिया था। शकूर बस्ती उन स्टेशनों में से ही एक है।

नई दिल्ली या निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन की थी मांग

सूत्रों ने कहा कि शुरुआत में इन डिब्बों को नई दिल्ली या हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पर तैनात करने का अनुरोध किया गया था, लेकिन रेलवे ने इसे नकार दिया क्योंकि इन दो स्टेशनों से विशेष ट्रेनें चलाई जा रही थीं। अधिकारियों ने कहा कि अब शकूर बस्ती डिपो में डिब्बों को तैनात कर दिया गया है और दिल्ली सरकार के विशेष सचिव को इसकी सूचना दे दी गई है।

यह भी पढें : क्वारंटाइन सेंटर नहीं, आत्मनिर्भर भारत बनने की दिशा में अग्रसर केंद्र हैं ये...

जल्द ही दिल्ली सरकार के अधिकारी देंगे रिपोर्ट

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दिल्ली सरकार के एक दल ने डिब्बों की जांच की है और जल्दी ही इस पर अपनी रिपोर्ट देंगे। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए रेलवे द्वारा पृथक-वास केंद्र के रूप में परिवर्तित किए गए 5,321 डिब्बों में से ये पहले डिब्बे हैं, जिन्हें तैनात किया गया है।

सभी आवश्यकताओं का रखा गया है ध्यान

इन डिब्बों में सभी आवश्यक चिकित्सकीय उपकरण मौजूद हैं, जिनमें ऑक्सीजन सिलेंडर, कंबल, संक्रमण मुक्त बिस्तर इत्यादि शामिल हैं। रेल मंत्रालय के अनुसार इन पृथक-वास डिब्बों में मच्छरदानी, लैपटॉप चार्ज करने की सुविधा और फोन उपलब्ध कराए जाएंगे। इन डिब्बों के शौचालयों को स्नानागार में बदल दिया गया है।

—भाषा
यह भी पढें :
धारावी में संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 1,771 हुई, मई माह में 70 लोगों ने गंवाई जान

Advertisement
Back to Top