COVID-19: खुशखबरी, देश में वैक्सीन के ट्रायल का पहला फेज पूरा, सितंबर में शुरू होगा दूसरा फेज

COVID-19: India has completed first Phase of Vaccine trial, 2nd Phase will start on September - Sakshi Samachar

भारत में कोरोना वायरस वैक्सीन का ट्रायल जारी

कई शहरों में पहला फेज पूरा, सितंबर में दूसरा चरण

भारत फूंक-फूंक कर रख रहा है कदम

नई दिल्ली: दुनिया भर के लिए चिंता का सबब बन चुके कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन तैयार करने की रेस अब भी बंद नहीं हुई है। हालांकि रूस ने वैक्सीन का ऐलान कर खुद को इस रेस में सबसे आगे जरूर खड़ा कर लिया है, लेकिन अब भी उनकी विश्वसनीयता को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर भारत के लिए खुशी की बात यह है कि वैक्सीन की इस रेस में हमने ट्रायल का पहला फेज सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है।

भारत फूंक-फूंक कर रख रहा है कदम

बता दें कि रूस ने जब से कोरोना वायरस की वैक्सीन का ऐलान किया है, तभी से दुनियाभर में हलचल मच गई है। कई देश वैक्सीन बनाने की रेस में हैं, जिनमें से एक भारत भी है। कोरोना के संकट को मात देने के लिए एक सफल वैक्सीन बनाने की कोशिश में लगा भारत धीरे-धीरे और एक-एक कदम फूंक-फूंक कर आगे बढ़ रहा है। देश में जारी वैक्सीन के ट्रायल का फेज़ 1 लगभग पूरा हो चुका है। भारत बायोटेक की ओर से बनाई जा रही को-वैक्सीन का पहला ट्रायल पूरा होने के बाद सितंबर में इसके दूसरे फेज़ की शुरुआत होगी।

भारत बायोटेक के तहत देश के 12 सेंटर्स में चल रहा ट्रायल

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कमेटी की ओर से जल्द ही रिपोर्ट सबमिट कर दी जाएगी, जिसमें पहले फेज़ की पूरी जानकारी होगी। अब दूसरे फेज़ की तैयारी शुरू हो रही है। यह सितंबर में शुरू होगा, जिसके लिए कैंडिडेट की तलाश जारी है।भारत बायोटेक के तहत कुल 12 सेंटर पर वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। इनमें दिल्ली के एम्स अस्पताल में अभी पहला फेज़ जारी है जबकि अन्य 11 पर लगभग ये पूरा हो चुका है। दिल्ली एम्स में ट्रायल के लिए सिर्फ 16 कैंडिडेट ही सामने आ सके जबकि सभी 12 सेंटर पर ये संख्या 375 के करीब रही।

दूसरे फेज के लिए कैंडिडेट की तलाश जारी

महाराष्ट्र के नागपुर में 55 कैंडिडेट को वैक्सीन दी गई, जिसमें से कुछ को वैक्सीन देने के बाद बुखार की समस्या हुई, जो कुछ ही घंटे में ठीक हो गया। उनमें किसी तरह का कोई अन्य लक्षण नहीं दिखा। नागपुर सेंटर ने अपनी रिपोर्ट जमा कर दी है। वहीं बेलगाम के सेंटर ने भी अपना पहला ट्रायल पूरा कर लिया है, जिसमें सिर्फ चार लोगों ने हिस्सा लिया। अभी पहले फेज़ की रिपोर्ट जमा करना बाकी है, लेकिन दूसरे फेज के लिए कैंडिडेट तलाशना शुरू हो चुका है।

तीन वैक्सीन पर अलग-अलग फेज में जारी है ट्रायल

देश में इस वक्त तीन वैक्सीन पर अलग-अलग फेज़ में ट्रायल हो रहा है। इनमें सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को फेज 2-3 की इजाजत मिल गई है। जल्द ही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन का भी ट्रायल शुरू हो जाएगा। इसके तहत 20 राज्यों के अस्पतालों में ट्रायल हो रहा है, जिसमें ICMR की सलाह पर अलग-अलग हॉटस्पॉट को चुना गया है। Zydus Cadila के द्वारा बनाई गई ZyCOV-D का फेज 1 भी पूरा हो गया है, जबकि दूसरे फेज के लिए 1000 लोगों को चुना जा रहा है।

गौरतलब है कि रूस ने जिस वैक्सीन का दावा किया है, उस पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं, मसलन कम लोगों पर टेस्ट करना, अलग-अलग साइड इफेक्ट होना और WHO की मंजूरी न होना। ऐसे में दुनिया को अभी भी भरोसेमंद वैक्सीन का इंतजार है। मुमकिन है भारत इस भरोसे के साथ दुनिया भर के लिए एक विश्वसनीय वैक्सीन के साथ मैदान-ए-जंग जीतेगा।

Advertisement
Back to Top