भारत में कोरोना वायरस से हुई पहली मौत, साउदी से बेंगलुर पहुंचा था पीड़ित

Coronavirus Terror : First Death in India - Sakshi Samachar

टेकी की पत्नी और बेटी को कोविड़-19

येदियुरप्पा ने बुलाई आपात बैठक

बेंगलुरु : विश्वभर में खलबली मचा रहे जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) भारत में अपना खासा असर दिखा रहा है। कोरोना वायरस की वजह से कर्नाटक में एक व्यक्ति की मौत होने की खबर से पूरे राज्य में खौफ का माहौल बन गया है। पिछले दिनों साउदी अरब से बेंगलुरु पहुंचे एक व्यक्ति की जांच के बाद डॉक्टरों ने उसमें कोरोना वायरस के लक्षण होने के संदेह व्यक्त करते हुए उसे कलबुर्गी मेडिकल कॉलेज भेज दिया। कुछ दिनों तक उसका इलाज ठीक-ठाक चलता रहा, लेकिन उसकी स्थिति में कोई सुधार नहीं होने पर वहां से किसी दूसरे अस्पातल भेजकर बेहतर इलाज कराने का प्रयास किया गया, जहां इलाज के दौरान बुधवार को उसकी मौत हो गई।

मृत व्यक्ति की पहचान मोहम्मद हुसैन सिद्धिकी के रूप में करने वाले डॉकटर इस बात की पुष्टि नहीं कर पाए हैं कि उसकी मौत कोरोना वायरस के कारण ही हुई है। डॉक्टरों ने बताया कि उसके सैंपल्स नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरॉलोजी रिफर किए गए हैं और रिपोर्ट मिलने के बाद ही उसकी मौत की वजह बता सकते हैं। 
भारत सरकार से मिली सूचना के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से अभी तक एक भी मौत नहीं हुई है। बुधवार तक देशभर में कोरोना वायरस के 52 मामले दर्ज हुए हैं। 

टेकी की पत्नी और बेटी को कोविड़-19

दूसरी तरफ, आईटी सिटी बेंगलुरु सहित कर्नाटक में कोरोना वायरस के कुल 4 मामले दर्ज हुए है। सिर्फ 24 घंटे के भीतर 4 लोगों में कोरोना वायरस पुष्टि होने से लोगों में खौफ बना हुआ है। इस बीच, आईसीएमआर ने मंगलवार को एक बयान जारी कर बताया था कि बेंगलुरु में तीन और कोविड वारयस के मामले सामने आये हैं। 
सबसे पहले कोरोना वायरस की पुष्टि होने वाले साफ्टवेयर इंजीनियर (41) को बेंगलुरु स्थित गांधी चेस्ट अस्पताल के स्पेशल वार्ड में इलाज किया जा रहा है। 

मंगलवार को उसकी पत्नी, बेटी और साथी कर्मचारियों में भी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। ऐसे में अब उनके साथ विमान में बेंगलुरु पहुंचे यात्रियों और पीड़ित जिन-जिन से मिला था उनसबको बुलाकर उनकी जांच करने की कोशिश की जा रही है। करीब 68 लोगों के सैंपल्स जांच के लिए भेजे गए हैं। 

इसे भी पढ़ें : 

कोरोना वायरस का कहर : एक ही दिन में 54 लोगों की मौत

इस बीच, कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा ने राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री और उच्चाधिकारियों की एक आपातकालीन बैठक बुलाई और कोविड पीड़ितों व अन्य जानकारी हासिल की। उन्होंने कोविड़ को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कदम उठाने के निर्देश दिया। बाद में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि बाहरी देशों से आए व्यक्तियों के परिवारों में ही कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है और राज्य में रह रहे लोगों को कोरोना वायरस होने की पुष्टि नहीं हुई है। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने और मास्क पहने रखने को कहा। 

Advertisement
Back to Top