Covid-19 : कोरोना के मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड तेजी, बढ़ते मौत के आंकड़ों ने उड़ाई सरकार की नींद

Coronavirus Covid-19 in India Update - Sakshi Samachar

देश में 1,31,423 हुई कोरोना संक्रमितों की संख्या

एक दिन में सबसे अधिक 6,654 नये मामले आए सामने

कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 3,868 तक पहुंची

नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है। लगातार बढ़ते मामलों ने लोगों में दहशत पैदा कर दी है। भारत में कोविड-19 के मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड तेजी दर्ज की गई है। शनिवार को एक दिन में सबसे अधिक 6,654 नये मामले सामने आए, जिसके साथ देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,31,423 हो गई है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 137 और लोगों की मौत के साथ अब तक कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 3,868 तक पहुंच गई है। एक महत्वपूर्ण कदम के तहत सरकार ने दवा नियामक प्रणाली में सुधार की अनुशंसा के लिए विशेषज्ञों की उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है ताकि स्वीकृति प्रक्रियाओं को गति दी जा सके। 

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे का सामना करते हुए, दवाओं की स्वीकृति प्रक्रिया को गति देने, अनुसंधान और टीका विकास जैसे कई कदम उठाए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि समिति का लक्ष्य इन कदमों की पहचान करना और इन्हें संस्थागत करना है। इस बीच, सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 11 शहरी क्षेत्रों में ही देश में सामने आए कोविड-19 के 70 प्रतिशत मरीज रहते हैं। इसके मद्देनजर सरकार ने शनिवार को शहर के पुराने हिस्से, झुग्गी झोपड़ी और अन्य घनी बसी अबादी वाले इलाके जैसे शिविर, प्रवासी मजदूरों के बस्ती आदि की निगरानी बढ़ाने को कहा है ताकि संक्रमण को नियंत्रित किया जा सके। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ये 11 शहरी क्षेत्र महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और राजस्थान के हैं, जहां पर 70 प्रतिशत उपचाराधीन मरीज हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये प्रधान स्वास्थ्य सचिवों और 11 नगर निगम क्षेत्रों के नगर आयुक्तों सहित अन्य अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। इस दौरान उन्होंने सबसे अधिक खतरे का सामना कर रही आबादी की सक्रियता से जांच और भर्ती मरीजों की उचित देखभाल का आह्वान किया ताकि मौतों को कम किया जा सके। 

यह भी पढ़ें : 

महाराष्ट्र में 25 मई से हवाई सेवा शुरू करने पर सस्पेंस बरकरार, सरकार ने खड़े किए हाथ

बिहार की बेटी ज्योति की मुरीद हुईं इवांका ट्रंप, 1200 KM साइकिल चलाकर पिता को पहुंचाया था गांव 

मंत्रालय के मुताबिक बैठक के दौरान एक प्रस्तुति दी गई जिसमें पृष्ट हुए मामलों, मौतों की दर, मामलों के दोगुनी होने की दर, प्रति दस लाख आबादी पर जांच की संख्या और उनमें कोविड-19 की पुष्टि होने का प्रतिशत आदि को रेखांकित किया गया था। मंत्रालय ने कहा, ‘‘बैठक में कहा गया कि नगर निगम क्षेत्रों में राष्ट्रीय औसत के मुकाबले कम समय में मामलों के दोगुनी होने की अधिक दर, उच्च मृत्यु दर और जांच में संक्रमण की पुष्टि होने का अधिक अनुपात सबसे बड़ी चुनौती है।'' 

Advertisement
Back to Top