गणतंत्र दिवस परेड में दिखाई जाएगी कोरोना वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया

Corona Vaccine Making Process Will Be Shown In Republic Day Parade - Sakshi Samachar

16 जनवरी 2021 से देश में शुरु हुआ टीकाकरण कार्यक्रम 

कोरोना वैक्सीन के साथ दिखाई जाएगी वैज्ञानिक की प्रतिमा

परेड के दौरान दिखाई जाएगी क्लीनिकल ट्रायल की झलक 

नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी के राजपथ (Rajpath) पर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade)के दौरान घातक कोविड-19 वायरस के खिलाफ वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया (Vaccine Making Process) भी दिखाई जाएगी। भारत में दो स्वदेशी कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine), कोविशिल्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxine) तैयार की गई हैं। 

16 जनवरी 2021 से देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो चुका है। अब तक भारत में 1,53,032 लोग जानलेवा कोरोना वायरस की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं देश में कुल 1,06,25,428 कोरोना पॉजिटव मामले सामने आ चुके हैं। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत जैव प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से निकाली जाने वाली झांकी में दिखाया जाएगा कि कैसे भारत हर स्तर पर रणनीतिक कार्यप्रणाली और बहुप्रचारित सामूहिक व्यवहार परिवर्तन को अपनाकर कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हुआ है।

झांकी का विषय (थीम) कोविड के खिलाफ लड़ाई में आत्मनिर्भर भारत अभियान है। झांकी में विभिन्न प्रक्रियाओं के माध्यम से वैक्सीन (टीका) के विकसित होने की प्रक्रिया को दर्शाया जाएगा। इस दौरान वैज्ञानिक की एक प्रतिमा कोरोना वायरस वैक्सीन के साथ दिखाई जाएगी, जो मानव जाति को बचाने के लिए ऐतिहासिक उपलब्धि को दर्शाएगी।

इसे भी पढ़ें : तेलंगाना: 17 मई से शुरू होगा SSC Exam, बैठ सकेंगे 10th Class के छात्र

इस प्रदर्शनी को पांच खंडों में विभाजित किया गया है, जिनमें वैक्सीन बनाने की शुरूआती प्रक्रिया से लेकर स्टोरेज सिस्टम और टीकाकरण की प्रक्रिया दर्शाई जाएगी। साथ ही वैक्सीन अनुसंधान प्रयोगशाला, वैक्सीन उत्पादन और नैदानिक परीक्षण (क्लीनिकल ट्रायल) की झलक भी दिखाई जाएगी। वहीं विभाग के एक अधिकारी ने बताया केबिन के बाहर व्यक्ति पर किए गए तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल को भी दिखाया जाएगा।
 

Advertisement
Back to Top