यूपी में धीमी हो रही कोरोना की रफ्तार, रिकवरी रेट हुई 91.91 प्रतिशत

corona recovery rate reached 91.91 in uttar pradesh - Sakshi Samachar

बीते 24 घंटों में संक्रमण के 2,351 नए मामले आए सामने

पिछले 33 दिनों से लगातार नये मामलों में आ रही गिरावट

प्रदेश में अब तक कुल 4.22 लाख कोरोना मरीज हुए स्वस्थ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की रफ्तार लगातार थमती नजर आ रही है। प्रदेश में कोरोना रिकवरी रेट का प्रतिशत बढ़कर 91.91 पहुंच गया है। राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 2,351 नए मामले सामने आए हैं। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि राज्य में एक दिन में कुल 1,51,314 सैम्पल की जांच की गयी। अब तक कुल 1,32,98,742 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 2,351 नये मामले आये हैं। पिछले 33 दिनों में लगातार नये मामलों में गिरावट आ रही है।

इसे भी पढ़ें:

उत्तर प्रदेश : कोरोना को लेकर खौफनाक खबर, एक व्यक्ति के कारण सील किए गए 14 गांव

उन्होंने बताया कि रिकवरी रेट बढ़कर अब 91.91 प्रतिशत हो गई है, जो राष्ट्रीय स्तर के 88 फीसद से बेहतर है। वहीं नए मरीजों के मुकाबले ठीक होने वाले रोगियों की संख्या ज्यादा होने के कारण एक्टिव केस घटकर 30,416 रह गए हैं। अब तक कुल 4.59 लाख लोग कोरोना की गिरफ्त में आए हैं, जिसमें 4.22 लाख मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 

कोरोना मामलों में लगातार आ रही गिरावट

बता दें कि यूपी में 17 सितंबर को सबसे ज्यादा 68,235 एक्टिव केस थे, तब कोरोना वायरस के 3.54 लाख रोगी थे, जिसमें 2.83 लाख स्वस्थ होने से रिकवरी रेट 80 फीसद था। उस समय से लगातार 33 दिनों से इसमें लगातार गिरावट आ रही है। अब तक 55.43 फीसद केस घट चुके हैं। अमित प्रसाद मोहन के बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2,562 लोग इलाज करा रहे हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 2,74,44,903 घरों के 13 करोड़ 52 लाख जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

विशेष अभियान के तहत किया जाएगा टीकाकरण

प्रसाद ने बताया कि 18 अक्टूबर को प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 6,664 बच्चों का जन्म हुआ, जिनमें से 6,513 सामान्य और 155 सिजेरियन डिलीवरी हुई हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना के संक्रमण की वजह से जिन बच्चों और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण नहीं हुआ है, उन्हें 1-15 अक्टूबर तक चलाए गए दस्तक अभियान में चिन्हित किया गया है। नवम्बर माह से एक विशेष अभियान के तहत इन बच्चों और महिलाओं का टीकाकरण कराया जायेगा, जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। 

Advertisement
Back to Top