चिराग पासवान ने जारी किया लोजपा का 'विजन डाक्यूमेंट', जानें खास बातें

chirag paswan released ljp Vision document - Sakshi Samachar

लोजपा ने 'विजन डाक्यूमेंट' नाम से अपना घोषणा पत्र किया जारी 

विजन डॉक्यूमेंट जारी करने के पहले चिराग ने अपनी मां से लिया आशीर्वाद 

चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार साधा निशाना

पटना:  बिहार चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होकर चुनाव लड़ रही लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने बुधवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया। लोजपा ने अपने घोषणा पत्र को 'विजन डाक्यूमेंट 2020' नाम दिया है। विजन डॉक्यूमेंट जारी करने के पहले चिराग पासवान ने अपनी मां रीना पासवान से आशीर्वाद लिया। चिराग ने कहा कि उनकी सोच बिहार को फिर से गौरवशाली बनाने की है। 

विजन डाक्यूमेंट की खास बातें

  • चिराग ने लोजपा विजन डॉक्यूमेंट में ‘बिहार फर्स्‍ट, बिहारी फर्स्‍ट' का नारा दिया है। 
  • विजन डॉक्यूमेंट में बिहार में समान वेतन लागू किए जाने का वादा किया गया है।
  • इसमें बिहार में कोटा की तर्ज पर कोचिंग सेंटर हब बनाने की बात कही गई है। 
  • बेरोजगारों को आकर्षित करने के लिए इसमें राज्य में सभी सरकारी पदों को भरने का वादा किया गया है। 
  • इस डॉक्यूमेंट में स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, उद्योग, पलायन, कृषि, बाढ़-सूखा पर ध्यान देने की बातें की गई हैं।
  • इसमें अनुसूचित जाति और जनजाति छात्रावास को वाई-फाई, लाइब्रेरी, मेस, खेलकूद सामग्री और सुरक्षा गार्ड के साथ आधुनिक स्तर का बनाने की बात कही गई है।
  • विजन डॉक्यूमेंट में लोजपा की सरकार बनने पर युवा आयोग का गठन करने वादा किया गया है।
  • इस पत्र में माता सीता का भव्य मंदिर निर्माण कराने का भी वादा किया गया है। 

इसे भी पढे़ं : 

बिहार चुनाव : LJP ने तीसरे चरण के लिए जारी की 41 कैंडिडेट्स की लिस्ट

चिराग ने नीतीश पर साधा निशाना
लोजपा प्रमुख ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि वो बांटो और राज करो नीति पर बिहार में सत्ता में रहे, यही कारण है कि 15 साल सरकार चलाने के बाद भी वे नाली, गली और खेत में पानी पहुंचाने की बात कर रहे हैं।  ‘‘बीते 15 साल में क्या किया, बिहार में रोजगार के लिए क्या किया ? बिहार को सशक्त करने के लिए क्या किया ? '' लोजपा नेता ने आरोप लगाया कि बिहार में अभी स्वास्थ्य की सही सुविधा नहीं है,अस्पतालों में डॉक्टर नहीं हैं और शिक्षा स्थिति खराब है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार के विकास की कल्पना करना उचित नहीं है।
 

Advertisement
Back to Top