हिंदी फिल्म जगत को कई यादगार गीत देने वाले अभिलाष का निधन, इन गानों के लिए हमेशा रहेंगे अमर

Bollywood Lyricist Abhilash Passed Away Due To Cancer  - Sakshi Samachar

गीतकार अभिलाष का निधन

50 धारावाहिकों में गीत लिखे

नई दिल्ली :  हिन्दी सिनेमा के दिग्गज गीतकार अभिलाष का निधन हो गया। रविवार की रात को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। 74 वर्षीय अभिलाष कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे।  मध्यरात्रि में ही उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह ने उन्हनें कलाश्री अवार्ड से सम्मानित किया था। अभिलाष ने इतनी शक्ति हमें देना दाता, इक नदिया, सावन को आने दो और चांद जैसे मुखड़े पर, जैसे गीत रचे थे। उन्होंने लगभग 28 फिल्मों में और तकरीबन 50 धारावाहिकों में गीत लिखे। 

बताया जाता है कि अभिलाष को लिवर का कैंसर था। वो पिछले 10 महीने से बिस्तर पर थे। उनका एक ऑपरेशन भी हुआ था। उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। बीते दिनों अभिलाष की पत्नी ने आर्थिक मदद की गुजारिश की थी।

अभिलाष के करियर के लिए ‘अंकुश’ फिल्म का गीत ‘इतनी शक्ति हमें देना दाता’ एक बड़ा मोड़ साबित हुआ था। इस गाने को लिखने में उन्हें दो महीने का वक्त लगा था। इसके अलावा उन्हें अपना लिखा फिल्म ‘रफ्तार’ का गीत ‘संसार है एक नदिया’ भी बहुत पसंद था। अभिलाष का मानना था कि इस गाने को लिखने के बाद उन्हें आत्मिक संतुष्टि मिली थी। फिल्मों में गाने लिखने के अलावा अभिलाष रेडियो के लिए भी लिखते थे।

अभिलाष के निधन के बाद से सिनेमा में शोक की लहर छा गई है। सोशल मीडिया पर सितारों सहित उनके चाहने वालों ने उन्हें याद करते हुए श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया है।

Advertisement
Back to Top