बिहार चुनाव परिणाम 2020 : इसलिए पलट गई बिहार की बाजी, तेजस्वी पिछड़े, नीतीश आगे

Bihar Assembly Election 2020 Results May Nitish Kumar Won - Sakshi Samachar

बिहार मे चला 'चुपचाप तीर छाप' का नारा ?

क्या एनडीए का चल गया जंगलराज का कार्ड

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती चल रही है। रुझानों में जदयू-भाजपा को बहुमत मिलता दिख रहा है। महागठबंधन ने भी 100 का आंकड़ा पार कर लिया है। आपको बता दें कि दोनों के बीच कांटे का टक्कर है। ऐसा माना जा रहा था कि नीतीश कुमार के खिलाफ एंटीइनकम्बेंसी है और बढ़ती बेरोजगारी उन्हें चुनावों के नतीजों में बड़ा झटका देने जा रही है। हालांकि शुरुआती रुझानों में जदयू को सीटों का नुकसान होता नजर आ रहा है, लेकिन ये उतना बड़ा नहीं है जितनी उम्मीद की जा रही थी। 

आप को बता दें कि इंडिया टुडे- एक्सिस माई इंडिया के पोल में समाने आया था कि युवा वोटर्स तेजस्वी यादव और महागठबंधन का खुलकर साथ दे रहे हैं, लेकिन 36 वर्ष आयु से ऊपर का वोटर अभी भी नीतीश कुमार के समर्थन में है। सर्वे के मुताबिक, 26 से लेकर 35 साल के वोटर तेजस्वी के पक्ष में नजर आए थे। हालांकि इस आयुवर्ग में भी 36 प्रतिशत वोटर नीतीश का ही साथ देते नजर आ रहे थे। 

क्या एनडीए का चल गया जंगलराज का कार्ड ?

बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, भाजपा के सभी बड़े नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालू यादव के 'जंगलराज' का जिक्र किया था। जदयू-भाजपा को रुझानों में मिल रहीं सीटों से बात साबित होती भी नजर आ रही है कि एनडीए का जंगल राज का कार्ड चल गया है। सर्वे के मुताबिक मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए 40 प्रतिशत लोगों ने तेजस्वी यादव को अपनी पहली पसंद बताया था लेकिन नीतीश कुमार के पक्ष में भी करीब 35 प्रतिशत लोग रहे थे।

इसे भी पढ़ें : 

बिहार मतगणना 2020 : पल पल की अपडेट के साथ जानिए कौन बनने जा रहा है बिहार का नया 'बॉस'​

बिहार में बनी तेजस्वी सरकार तो 5 साल क्या करेंगे नीतीश कुमार

बिहार मे चला 'चुपचाप तीर छाप' का नारा ?

 वोटिंग और एग्जिट पोल्स के बाद इस बात का भी कयास गया जा रहा था कि नीतीश के समर्थन में 'साइलेंट वोटर' फैक्टर काम कर सकता है। चुनावों में 'चुपचाप तीर छाप' का नारा भी सामने आया और ऐसा माना जा रहा था कि औरतों के एक बड़े वर्ग ने इस बार भी बिना शोर-शराबे के नीतीश के समर्थन में ही मतदान किया है। हालांकि अभी मतगणना जारी है और आखिरी नतीजों के लिए  इंतजार करना जरूरी है। 

Advertisement
Back to Top