घुटने तक जमी बर्फ में दो किलोमीटर पैदल चलकर सेना के जवानों ने बचाई गर्भवती की जान

army javaan rescued pregnant woman trapped in snow in Kashmir - Sakshi Samachar

मानवीय प्रयासों के लिए सेना की टुकड़ी को धन्यवाद 

अबतक 12 से अधिक गर्भवती महिलाओं की मदद 

कुपवाड़ा: भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों ने कश्मीर (Kashmir) के कुपवाड़ा में बर्फ में फंसी एक गर्भवती महिला (Pregnant woman) को बचा लिया और अस्पताल तक पहुंचाया। सेना के जवान दो किलोमीटर तक घुटने तक जमी बर्फ में पैदल चल कर गर्भवती महिला को अस्पताल पहुंचाया। घटना मंगलवार देर रात की है।

कुपवाड़ा के करालपुरा में सेना के पास मंजूर अहमद शेख नामक शख्स का फोन आया। उसने सेना से सहा कि उनकी पत्नी शबनम बेगम को प्रसव पीड़ा हो रही है और उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाने की जरूरत है। भारी बर्फबारी और खराब मौसम के कारण, ना तो सामुदायिक स्वास्थ्य सेवा वाहन और ना ही नागरिक परिवहन उपलब्ध था। सड़क पर जमी बर्फ साफ करना भी संभव नहीं था।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए, सेना के जवान एक नसिर्ंग स्टाफ और चिकित्सा उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे। सेना के जवानों ने महिला और परिवार को घुटने पर जमी बर्फ में दो किलोमीटर तक पहुंचाया, जहां से महिला को करालपुरा अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचने पर महिला को तुरंत चिकित्सा कर्मचारियों ने देखभाल शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: सुशांत का चेहरा देखकर कोई भी यह कह सकता था कि वह मासूम, सीधे... और अच्छे मनुष्य थे: HC

सेना ने एक बयान में कहा, पीड़ित परिवार और नागरिक प्रशासन ने मानवीय प्रयासों के लिए सेना की टुकड़ी को धन्यवाद दिया और संकट के वक्त सेना को अवाम के सच्चे दोस्त के रूप में सराहा। बच्चे के जन्म के बाद पिता सैनिकों को मिठाई बांटने ऑपरेटिंग बेस पर पहुंचे। अब तक सेना के जवानों ने कश्मीर में दो दर्जन से अधिक गर्भवती महिलाओं को बफीर्ले इलाकों से बाहर निकाला है।
 

Advertisement
Back to Top